Stones का उपचार है सेब। सेब मानव सेहत के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। यह उन क्षेत्रों में पाया जाता है जहां काफी बर्फ पड़ती है जैसे जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश। कश्मीरी सेब भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय और अच्छा माना जाता है। सेब की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह शरीर को बहुत ही जल्दी लाभ पहुंचाता है। साथ ही इसके नियमित सेवन से बहुत से फायदे होते हैं। Stones का उपचार।

Stones, सिरदर्द, नींद ना आना, स्मरण शक्ति और दिल की कमजोरी का उपचार 

सेब का जो लोग नियमित सेवन करते हैं Stones व मस्तिष्क जैसे लोगों से कभी पीड़ित नहीं होते हैं। सेब महंगा होने के कारण सभी लोग इसका हर समय इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। सेब जहां एक तरफ बहुत ही गुणकारी है। वहीं दूसरी तरफ यह कई तरह से आयुर्वेद ने भी काम करता है। इसके द्वारा कई बीमारियों को ठीक किया जा सकता है। आजकल हम कुछ बीमारियों के बारे में बताएंगे जिनका सेब से उपचार किया जाता है और उनके लिए सेब बहुत ही कारगर माना जाता है। Stones का उपचार।
दिल की कमजोरी
जो लोग दिल की कमजोरी से पीड़ित हैं। ऐसे लोगों को सेब का मुरब्बा बनाकर रात को सोते समय गाय के दूध के साथ खाने से दिल में बहुत ही ज्यादा शक्ति बढ़ती है। और दिल की कमजोरी धीरे-धीरे खत्म हो जाती है। 
स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए रामबाण
ऐसे लोग जो मंदबुद्धि होते हैं। जिन्हें बार-बार बताने पर वह भूल जाते हैं। उनको रोजाना दो सेव छिलके सहित सेवन करने से उनकी याददाश्त काफी बढ़ जाती है। विद्यार्थियों के लिए सेव बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है।
Stones का इलाज
सेब का Stones में भी बहुत बड़ा इलाज होता है। प्रमुखता Stones ऑपरेशन के द्वारा निकाली जाती है लेकिन इससे Stones पुनः होने की आशंका बनी रहती है। Stones का सबसे आसान और रामबाण इलाज सेब माना जाता है। सेब का नियमित सेवन करने से Stones अपने आप टुकड़े-टुकड़े होकर पेशाब के रास्ते से बाहर निकल जाती है।
सिर दर्द की समस्या
आज के समय में सिर दर्द की समस्या काफी लोगों को देखने को मिलती है। महिलाओं में यह समस्या खासकर दिखाई देती है। इसको खत्म करने के लिए सेब के रस में नमक डालकर एक माह तक निरंतर पीते रहने से किसी भी तरह का सिर दर्द ठीक हो जाता है और इतना ही नहीं इसके साथ ही शरीर में एक नई ऊर्जा भी उत्पन्न होती है। 
नींद ना आना
यह एक गंभीर समस्या है जिन्हें नींद नहीं आती वह लोग अन्य बहुत सी बीमारियों से भी पीड़ित हो सकते हैं। इस बीमारी को इनसोम्निया कहते हैं। जिन लोगों को नींद नहीं आती है। उनके लिए सेब का मुरब्बा बहुत लाभदायक है। सेब का मुरब्बा नियमित सेवन करने से नींद ना आने की समस्या जड़ से खत्म हो जाती है। 
दांतों के रोग 
बढ़ते हुए बच्चों के दांत निकलते समय काफी समस्याएं बनी रहती हैं। दांत निकलते समय बच्चों को बहुत ही परेशानियां होती हैं। इसलिए खाना खाने के पश्चात एक पका हुआ सेव प्रतिदिन खाना शुरू कर देने से दांतों की समस्या में बहुत लाभ मिलता है। बच्चों को सेव काट कर देने से इनके मसूड़े भी शक्तिशाली होते हैं साथ ही दांतो की उम्र काफी लंबी हो जाती है। 
उक्त रक्तचाप
यह बीमारी कभी-कभी इंसान के लिए बहुत ही घातक होती है। इससे ब्रेन हेमरेज जैसी समस्याएं उत्पन्न होने की आशंका बनी रहती है। इसके लिए सुबह शाम एक सेब खाने से उक्त रक्तचाप की समस्या समाप्त हो जाती है। 
जुकाम खांसी और नजला
जिन लोगों का दिमाग कमजोर है और हर समय खांसी आती रहते हैं। उन्हें सेब का रस दोनों समय आधा आधा गिलास थोड़ी मिश्री मिलाकर घोल कर पीना चाहिए। दिन में तीन बार पीने से अगर जुकाम रहता है तो भोजन से पूर्व छिलके वाला एक सेब प्रतिदिन रात को खाने से पुराना जुकाम भी दूर हो जाता है। साथ ही नजला की समस्या भी खत्म हो जाती है। 
इतना ही नहीं सेब बच्चों के लिए भी बहुत गुणकारी माना जाता है। बच्चों की कई समस्याओं में सेब बहुत ही उत्तम होता है। इनमें से जैसे पेचिश, पेट की खराबी, भूख न लगना, बुखार जैसे रोग सेव खत्म कर देता है।
Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!