Diabetes बहुत ही गंभीर बीमारी है। भारत में यह बीमारी लगभग हर पांचवें व्यक्ति में पाई जाती है। Diabetes के जन्म लेने का मुख्य कारण शरीर में इंसुलिन का ना बनना या फिर इंसुलिन का तेजी से घटना होता है। मधुमेह शरीर के लगभग सभी अंगों को प्रभावित करती है। इससे किडनी गुर्दा फेफड़ा के साथ-साथ और भी बहुत से अंग बुरी तरह से प्रभावित होते हैं। 
Diabetes से प्रभावित व्यक्ति के खून में थक्का बनना बंद हो जाता है। अगर उसे थोड़ी सी चोट लग जाती है तो उसका खून आसानी से बहना बंद नहीं होता है। इसके अलावा शरीर में झनझनाहट इत्यादि होती रहती है। Diabetes से पीड़ित व्यक्ति का वजन तेजी से घटने लगता है और वह कमजोर हो जाता है। 
कभी-कभी इसके विपरीत भी होता है मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति  का वजन तेजी से बढ़ने लगता है। मधुमेह होने से शरीर का पाचन तंत्र, स्वसन तंत्र ,ह्रदय इत्यादि चीजें बहुत ज्यादा प्रभावित हो जाते हैं। 

Diabetes में इन चीजों का सेवन है रामबाण

जामुन
Diabetes के रोगियों के लिए जामुन बहुत ही महत्वपूर्ण मानी जाती है। जामुन का सेवन मधुमेह के रोगियों को बहुत ही ज्यादा लाभ पहुंचाता है। इसके अलावा जामुन की गुठलियों को पीसकर चूर्ण बना लें और उनको एक एक चम्मच सुबह-शाम लेने से मधुमेह की समस्या से निजात मिल सकती है। जामुन का चूर्ण मधुमेह के लिए रामबाण माना जाता है। 
आंवला
मधुमेह के रोगियों के लिए आंवला भी वरदान के रूप में माना जाता है आंवले का सेवन मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत ही उत्तम माना जाता है। Diabetes के रोगी आंवले के रस का भी सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा सूखे हुए आंवले को पीसकर सुबह शाम एक चम्मच ताजे पानी से लेने से मधुमेह की समस्या कुछ दिनों में खत्म हो जाती है। 
एलोवेरा
एलोवेरा भी Diabetes के लिए एक चमत्कार के रूप में माना जाता है। हालांकि एलोवेरा में बहुत से औषधीय गुण होते हैं किंतु मधुमेह के लिए यह बहुत ही उत्तम माना जाता है। एलोवेरा के गूदे को निकालकर उसको अच्छी तरह से आपस में मिला लें या फिर मिक्सी में पीसकर थोड़ा सा पानी डालकर जूस बना ले और ताजा ताजा मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति को लगातार दो से 5 दिन पिलाने पर मधुमेह बहुत ही जल्दी सामान्य हो जाती है और मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति को आराम मिल जाता है। इसके साथ ही इसके सेवन से इम्यूनिटी भी बहुत तेजी से बढ़ती है।
Share.

Leave A Reply