Home Latest News यूनिसेफ प्रतिनिधियों ने समझाई गांवों को स्वच्छ बनाने की विधि

यूनिसेफ प्रतिनिधियों ने समझाई गांवों को स्वच्छ बनाने की विधि

यूनिसेफ प्रतिनिधियों ने समझाई गांवों को स्वच्छ बनाने की विधि समझाई है।गांवों को सालिड एवं लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट के माध्यम से स्वच्छ ग्राम पंचायत बनाए जाने की पहल जिले में तेज हो गई है। यूनिसेफ की सालिड एवं लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट प्रोजेक्ट हेड अन्नया घोषाल ने कहा कि व्यक्ति यदि ठान ले, तो कोई काम असंभव नहीं है। ग्राम पंचायतों में सालिड एवं लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट से गांवों को स्वच्छ और आदर्श बनाया जा सकेगा, इसके लिए गांव की भौगोलिक स्थिति, जल निकासी और कूड़ा प्रबंधन की पूरी जानकारी जुटानी होगी और उसी अनुसार निस्तारण की कार्ययोजना को अमल में लाया जा सकेगा। पंचायतीराज विभाग की ओर से स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण में सालिड एवं लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट का गांधी भवन सभागार में सोमवार को प्रशिक्षण हुआ। यूनिसेफ की प्रोजेक्ट हेड ने कहा कि सालिड एवं लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट से गांव में बीमारियों को पनपने से रोका जा सकेगा। मुख्य विकास अधिकारी आकांक्षा राना ने कहा कि ग्राम पंचायतों को सालिड एवं लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट से स्वच्छ और आदर्श बनाए जाने के लिए ब्लाकों के नामित नोडल व तकनीकी अधिकारी कार्ययोजना को भली प्रकार से समझ लें। प्रधान और पंचायत सचिवों से कहा कि केंद्र सरकार की प्राथमिकता में शामिल सालिड एवं लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट के कार्यों को वरीयता पर कराया जाएगा। डीपीआरओ गिरीश चंद्र ने चयनित प्रत्येक ब्लाक की दो-दो ग्राम पंचायतों की जानकारी दी। डीपीसी हिमांश मिश्रा ने स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के कार्यों को बताया। संचालन यूनिसेफ के प्रदीप कुमार श्रीवास्तव व विकास सिंह ने संयुक्त रूप से किया और प्राजेक्टर के माध्मय से कार्ययोजना व रणनीति समझाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here