Home Latest News स्टेट बैंक के एटीएम और चेक से पैसे निकालना पड़ेगा मुश्किल नए...

स्टेट बैंक के एटीएम और चेक से पैसे निकालना पड़ेगा मुश्किल नए नियम तुरंत जान ले, वरना बाद में पछताना पड़ेगा

देश के सबसे बड़े सरकारी कर्जदाता स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) एटीएम व बैंक शाखा से पैसे निकालने और चेकबुक को लेकर नियमों में बदलाव कर रहा है. इसके तहत ग्राहकों को इन सभी सेवाओं के लिए चार्जेस (Charges) देने होंगे. नए चार्जेस बेसिक सेविंग अकाउंट डिपॉजिट (BSBD) अकाउंड होल्डर्स पर लागू होंगे. दूसरे शब्‍दों में कहें तो अब ग्राहकों को एसबीआई के एटीएम (SBI ATM) से नकदी निकालने और नई चेकबुक (Chequebook) लेने पर शुल्‍क चुकाना होगा. ये नये नियम अगले महीने यानी जुलाई 2021 से लागू हो जाएंगे. वरिष्ठ नागरिकों को चेक बुक पर नए सेवा शुल्क से छूट दी जाएगी.
एसबीआई बीएसबीडी गरीब तबके के लिए है ताकि वे कोई शुल्क नहीं होने के कारण अकांउट खोलने के लिए प्रोत्साहित हो सकें. इसे जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट भी कहते हैं. इसमें न्यूनतम या अधिकतम बैलेंस की जरूरत नहीं होती. इन अकाउंट होल्डर्स को एटीएम-कम-डेबिट कार्ड मिलता है. कोई भी व्यक्ति वैध केवाईसी दस्तावेज दिखाकर एसबीआई में बीएसबीडी काउंट खोल सकता है. बीएसबीडी खाताधारकों के लिए हर महीने चार मुफ्त नकद निकासी उपलब्ध होगी, जिसमें एटीएम और बैंक शाखाएं शामिल हैं. बैंक फ्री लिमिट के बाद हर ट्रांजैक्शन पर 15 रुपये प्लस जीएसटी वसूलेगा. नकद निकासी पर शुल्क होम ब्रांच और एटीएम व गैर-एसबीआई एटीएम पर लागू होगा.
चेक बुक के लिए अब चुकाना होगा इतना शुल्क
एसबीआई बीएसबीडी अकाउंट होल्डर्स को एक वित्‍त वर्ष में 10 चेक की कॉपी मिलती है. अब 10 चेक वाली चेकबुक पर शुल्‍क देना होगा. बैंक 10 लीव वाली चेकबुक के लिए 40 रुपये और जीएसटी लेगा.
एसबीआई 25 लीव की चेकबुक के लिए 75 रुपये और जीएसटी चार्ज करेगा.
इमरजेंसी चेक बुक पर 10 लीव के लिए 50 रुपये और जीएसटी लगेगा.
बैंक बीएसबीडी खाताधारकों की ओर से होम ब्रांच से पैसा निकालने पर शुल्क नहीं लगेगा.
एटीएम से पैसा निकालने के लिए होंगे ये नियम
एसबीआई के एटीएम या बैंक ब्रांच से 4 बार पैसा निकालने पर कोई शुल्‍क नहीं देना होगा. इसके बाद नकदी निकालने पर 15 रुपये और जीएसटी वसूला जाएगा. एसबीआई ने हाल में चेक का उपयोग करके नकदी निकालने की सीमा बढ़ाकर 1 लाख रुपये रोजाना कर दी है. बचत बैंक पासबुक के साथ निकासी फॉर्म का उपयोग करके नकद निकासी को बढ़ाकर 25,000 रुपये प्रतिदिन कर दिया गया है. इसके अलावा तीसरे पक्ष की नकद निकासी 50,000 रुपये प्रति माह (केवल चेक का उपयोग करके) तय की गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here