Home Ajab Gajab ये है दुनिया की सबसे महंगी सब्जी और इसकी भारतीय कीमत जानकर...

ये है दुनिया की सबसे महंगी सब्जी और इसकी भारतीय कीमत जानकर रह जाएंगे हैरान

आमतौर पर हमारी दैनिक दिनचर्या में साग सब्जियों की कीमत फलों आदि से कम ही होती है क्योंकि इनका उत्पादन बहुतायत में होता है और यह हर जगह आसानी से उपलब्ध भी हो जाती है लेकिन आज हम आपको जिस सब्जी के बारे में बताने जा रहे हैं उसकी कीमत 1000 यूरो प्रति किलो है यानी कि भारतीय मुद्रा के हिसाब से लगभग ₹82000 प्रति किलो है आइए जानते हैं इसके बारे में कुछ विशेष बातें जो hop shoots सब्जी को इतना महंगा बनाती है. hop shoots नाम की इस सब्जी का असल में एक पौधा होता है तथा इसके ऊपर जो फूल आते हैं उन्हें hop cones कहा जाता है और इनका उपयोग बीयर बनाने में मुख्यतः किया जाता है बीयर बनाने में इन फूलों का उपयोग बहुत पहले से लगभग 9 वीं सदी से ही किया जाता रहा है यह फूल स्वाद में कड़वा होता है तथा इसका अपना अलग ही गंध और स्वाद होता है इसकी टहनियों को सब्जी के रूप में खाया जाता है कुछ लोग इसकी सब्जी बनाते हैं तथा कुछ इसे सलाद के रूप में भी खाते हैं लेकिन इतनी महंगी होने की वजह से कुछ जानकार, अमीर और खाने के शौकीन लोग ही इसे खा पाते हैं क्योंकि इतनी महंगी होने के कारण यह सब्जी हर किसी दुकान पर उपलब्ध नहीं होती है.

 

 

इसके साथ-साथ hop shoots के कई औषधीय गुण भी हैं इसका उपयोग जड़ी बूटियों के तौर पर भी किया जाता है यह दांत दर्द तथा टीबी जैसी गंभीर बीमारियों के इलाज में भी इस्तेमाल होती है कुछ लोग इसकी टहनियों को कच्चा ही खा जाते हैं जो कि थोड़ी कड़वी होती है वहीं कुछ लोग इसका अचार भी बनाते हैं जो काफी स्वादिष्ट और सेहत के लिए भी बहुत अच्छा होता है. hop shoots के औषधीय गुणों का पता बहुत पहले ही लगा लिया गया था करीब 9 वीं सदी के आसपास लोग इसे बीयर में मिलाकर पीते थे तब से शुरू हुआ यह सिलसिला अब तक चल रहा है सबसे पहले इसकी खेती उत्तरी जर्मनी में शुरू हुई थी तथा धीरे-धीरे यह पूरे विश्व में फैल गई लंदन में 2 दिन का hop shoots फेस्टिवल भी मनाया जाता है. और इस फेस्टिवल में hop shoots के तरह-तरह के व्यंजन तथा ड्रिंक्स बनाकर लोगों के बीच परोसे जाते हैं और इस सब्जी को लेकर जागरूकता भी फैलाई जाती है

 

 

इसकी महंगे होने के पीछे एक कारण यह भी है इसकी खेती बहुत ही मुश्किल होती है क्योंकि इसके लिए सारे काम मजदूरों को स्वयं अपने हाथ से ही करने पड़ते हैं इसके लिए अभी तक कोई मशीन उपलब्ध नहीं है. मार्च से लेकर जून तक ‘हॉप शूट्स’ की खेती के लिए उपयुक्त समय माना जाता है। इसका पौधा नमी के साथ-साथ सूर्य का प्रकाश मिलने से बहुत तेजी से बढ़ता है। कहते हैं कि एक ही दिन में इसकी टहनियां छह इंच तक बढ़ जाती हैं। इसकी एक और विशेषता ये है कि शुरुआत में इसकी टहनियां बैंगनी रंग की होती हैं, जो बाद में हरे रंग में बदल जाती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here