Home Lifestyle मासिक धर्म के दौरान बाल धोने से क्या होता है, नहीं जानते...

मासिक धर्म के दौरान बाल धोने से क्या होता है, नहीं जानते तो तुरंत जान ले

लड़की के अण्डाशय हर महीने एक विकसित डिम्ब (अण्डा) उत्पन्न करना शुरू कर देते हैं। वह अण्डा अण्डवाहिका नली (फैलोपियन ट्यूव) के द्वारा नीचे जाता है जो कि अंडाशय को गर्भाशय से जोड़ती है। जब अण्डा गर्भाशय में पहुंचता है, उसका अस्तर रक्त और तरल पदार्थ से गाढ़ा हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है कि यदि अण्डा उर्वरित हो जाए, तो वह बढ़ सके और शिशु के जन्म के लिए उसके स्तर में विकसित हो सके। यदि उस डिम्ब का पुरूष के शुक्राणु से सम्मिलन न हो तो वह स्राव बन जाता है जो कि योनि से निष्कासित हो जाता है। इसी स्राव को मासिक धर्म, पीरियड्स या रजोधर्म या माहवारी (Menstural Cycle or MC) कहते हैं।
पीरियड्स के दिन बाल धोने से क्या होता है। पीरियड्स के दौरान बाल क्यों नहीं धोना चाहिए ,मासिक धर्म के दौरान बाल धोने से क्या होता है । पीरियड्स में बाल धोने से दुष्प्रभाव पीरियड्स हर महीने लड़कियों व महिलाओं को होने वाली एक आम प्रक्रिया हैं ।इस दौरान महिला के प्राइवेट पार्ट से रक्त का प्रवाह होता है। जो कि शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। ऐसे में इस दौरान लड़कियों और महिलाओं को अपनी अच्छे से केअर करने के लिए कहा जाता है। पहली बार पीरियड आने पर अपनी मम्मी, दादी ,नानी या बड़ी बहन हमें कोई ना कोई सलाह देती है ।इस दौरान अपना ध्यान कैसे रखना चाहिए और इस दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए । इनकी भी जानकारी देती हैं ।
पुराने समय से ही पीरियड्स के दौरान बाल ना धोने की सलाह दी जाती है और इसे लेकर अलग-अलग तरह की बातें भी बोली जाती है । लेकिन इसके पीछे की असली वजह के बारे में कह पाना थोड़ा मुश्किल है। जैसे कि पुराने समय में महिलाएं तालाब, नदी आदि में नहाने के लिए जाती थी और लोग उसी पानी का इस्तेमाल कपड़े ,बर्तन ,धोने के लिए करते थे। और पीरियड्स के दौरान उस पानी से सिर धोकर नहाती थी तो लोग मानते थे किसके कारण पानी दूषित हो जाता है ऐसे में इस दौरान पानी से दूर रहने की सलाह दी जाती थी। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि पीरियड्स में बाल धोने चाहिए या नहीं इस विषय पर बात करते हैं ।
पीरियड्स मैं बाल धोने चाहिए या नहीं :
पीरियड्स के दौरान बाल धोना सही भी हो सकता है ,और गलत भी हो सकता है जैसे ही कुछ लोग मानते कि यदि पीरियड्स के दौरान नहाने व सिर धोने से गर्म पानी का इस्तेमाल किया जाए तो ऐसा करने से पीरियड्स के दौरान होने वाली परेशानी कम होती है । क्योंकि इससे ब्लड फ्लो बेहतर होता है साथ ही दर्द में आराम मिलता है ।और पीरियड्स में शरीर को आराम भी मिलता है लेकिन ऐसा माना जाता है कि यह आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकता है । ऐसे में यह सही है या गलत ऐसा कह पाना मुश्किल हो सकता है। तो चलिए बात करते हैं कि पीरियड्स के दौरान बाल धोने से क्या नुकसान हो सकते हैं तथा किस प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है ।
शारीरिक समस्या हो सकती है :
यदि आपके शरीर से पीरियड्स के दौरान विषैले पदार्थ पूरी तरह से बाहर नहीं निकलते तो इसके कारण आपके शरीर में विकार उत्पन्न होने की संभावनाएं बढ़ जाती है जिसके कारण आपको किसी ना किसी शारीरिक समस्या का सामना करना पड़ सकता है। जैसे कि इंफेक्शन, पेट में दर्द, कमर में दर्द आदि प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है ऐसे में यदि आप इन परेशानियों से बचना चाहते तो आपको पीरियड के दौरान बालों को धोने से बचना चाहिए ।
ब्लीडिंग खुलकर नहीं होती है :
पीरियड्स के दौरान ब्लीडिंग का अच्छे से होना बहुत जरूरी होता है क्योंकि यदि ब्लीडिंग अच्छे से नहीं होती तो यह गर्भाशय में थक्के का रूप ले लेती है जो बाद में आपके लिए परेशानी का कारण बन सकती हैं । और बिल्डिंग के बेहतर होने के लिए बॉडी का गर्म रहना बहुत जरूरी होता है। लेकिन सिर धोने से शरीर का तापमान कम हो जाता है ।जिसके कारण बिल्डिंग खुलकर नहीं हो पाती। जिसके कारण पेट में दर्द की समस्या हो सकती है इसलिए पीरियड्स में खासकर पहले 3 दिन बाल न धोने की सलाह दी जाती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here