Home Latest News देश में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान के 155 दिन पूरे हो...

देश में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान के 155 दिन पूरे हो चुके इसी बीच 27 करोड़ से अधिक टीके लगाए गए

देश में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान के 155 दिन पूरे हो चुके हैं। इस दौरान देश में अब तक लगाई गई खुराकों की कुल संख्या 27.62 करोड़ से अधिक हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने कहा कि शनिवार को 18-44 आयु वर्ग के 20,49,101 लाभार्थियों को टीकों की पहली खुराक दी गई, जबकि 78,394 लोगों को दूसरी खुराक दी गई।
मंत्रालय ने कहा कि टीकाकरण अभियान के 155वें दिन (19 जून) कुल 33,72,742  खुराक दी गई। इनमें से 29,00,953 लाभार्थियों को पहली खुराक और 4,71,789 को दूसरी खुराक दी गई। जबकि देश भर में टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शुरुआत के बाद से कुल मिलाकर 18-44 आयु वर्ग के 5,39,11,586 लोगों को पहली खुराक लगाई गई है जबकि 12,23,196 लोगों को दूसरी खुराक लगाई गई है।
देश के 17 राज्यों में 10 लाख से अधिक लोगों को लगे टीके
असम, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, ओडिशा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल ने 18 आयु वर्ग के 10 लाख से अधिक लाभार्थियों को  टीके लगाए गए हैं।
शाम सात बजे संकलित की गई अंतरिम रिपोर्ट के मुताबिक देश भर में कुल 27,62,55,304 खुराक दी गई। टीकाकरण अभियान के 155 वें दिन शनिवार को कुल 33,72,742 खुराक दी गई। कुल 29,00,953 लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक दी गई, जबकि 4,71,789 को दूसरी खुराक दी गई।
केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से टीकाकरण अभियान तेज करने को कहा
केंद्र सरकार ने शनिवार को राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से अपील की है कि वह टीकाकरण अभियान को तेज करें और कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए लॉकडाउन हटाते समय कोविड अनुकूल व्यवहार, जांच-निगरानी-इलाज, टीकाकरण जैसी ‘अति महत्वपूर्ण’ पांच रणनीतियां अपनाएं। वहीं एक विशेषज्ञ ने चेतावनी दी है कि अगर कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन नहीं किया गया तो भारत में छह से आठ सप्ताह में तीसरी लहर आ सकती है।
सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को भेजे संदेश में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि संक्रमण के प्रसार की कड़ी को तोड़ने के लिए मौजूदा परिदृश्य में कोविड-19 रोधी टीकाकरण बेहद अहम है। उन्होंने कहा कि ऐसे में राज्य और केंद्र शासित प्रदेश टीकाकरण की गति तेज करें।
गृह सचिव ने कहा कि महामारी की दूसरी लहर के दौरान कई राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में संक्रमण के मामलों में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई और कइयों ने संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रतिबंध लगाए। उन्होंने कहा कि संक्रमण के मामलों में कमी को देखते हुए कई राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने प्रतिबंधों में राहत देना शुरू किया है, ऐसे में मैं यह रेखांकित करना चाहूंगा कि लॉकडाउन हटाने की प्रक्रिया सावधानीपूर्वक व्यवस्थित और जमीनी स्थिति के आकलन के आधार पर हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here