Home Business अगर आप भी एफडी तुड़वाने जा रहे हैं तो जान ले ये...

अगर आप भी एफडी तुड़वाने जा रहे हैं तो जान ले ये बातें, नहीं तो हो सकता है भारी नुकसान

सावधि जमा (fixed deposit (FD)) बैंको एवं अन्य वित्तीय संस्थाओं द्वारा प्रदत्त जमा योजना है जिसमें एक नियत अवधि (समय) के लिये जमा की गयी धनराशि पर बचत खाते की अपेक्षा अधिक ब्याज दिया जाता है। सावधि जमा की एक निश्चित परिपक्वता तिथि (या परिपक्वता अवधि) होती है।
कोरोना महमारी की दूसरी लहर के कारण लाखों लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है। इससे आर्थिक संकट का सामना करने वाले लोगों की संख्या बढ़ गई है। लोग अपनी जरूरत के खर्च चलाने के लिए लोन लेने या जमा पूंजी को खर्च करने को मजबूर है। ऐसे में बहुत सारे लोग अपनी सावधि जमा (एफडी) तोड़कर पैसा निकाल रहे हैं। वित्तीय विशेषज्ञों का कहना है कि अगर कम पैसे की जरूरत है तो एफडी तोड़ने से बेहतर होगा उस पर लोन लेना।
विशेषज्ञों का कहना है कि अगर आपकी एफडी 1 लाख रुपये की है और आपको 50 हजार रुपये की जरूरत है तो आपका एफडी पर लोन लेना सही रहेगा क्योंकि इससे आपकी सेविंग्स भी बची रहेगी और आपकी पैसों की जरूरत भी पूरी हो जाएगी। वहीं, अगर आपको एफडी के पूरे रुपयों की जरूरत है तो आपका समय से पहले एफडी तुड़वाना सही रहेगा क्योंकि इससे आपको आपका पैसा थोड़ी पैनल्टी के बाद मिल जाएगा। एफडी पर लोन में 80 से 90% पैसा लोन के रूप में मिलता है।
बैंक किस ब्याज दर पर दे रहा लोन
बैंक लोन की ब्याज दर (%) अधिकतम लोन
एसबीआई एफडी रेट + 1% एफडी के 90% तक
पंजाब नेशनल बैंक एफडी रेट + 1% एफडी के 95% तक
एक्सिस बैंक एफडी रेट + 2% एफडी के 85% तक
एचडीएफसी बैंक एफडी रेट + 2% एफडी के 90% तक
बैंक ऑफ बड़ौदा एफडी रेट + 2% एफडी के 90% तक
इंडियन बैंक एफडी रेट + 2% एफडी के 90% तक
आईसीआईसीआई बैंक एफडी रेट + 2-3% एफडी के 90% तक
फेडरल बैंक एफडी रेट + 2 एफडी के 90% तक
मिलता है कम ब्याज
अगर आप समय से पहले एफडी तुड़वा रहे हैं तो आपको उस दर से जिस पर आपने एफडी की है वह ब्याज नहीं मिलता है। मान लीजिए कि आपने 2018 में पांच साल के लिए 1 लाख रुपये की एफडी तीन साल पहले 8.5% की दर से की, लेकिन आप अब तीन साल बाद उसे निकालना चाहते हैं और अभी 7.5% की दर से सालाना ब्याज मिल रहा है, तो ऐसे में बैंक आपके पैसों पर 8.5% की दर से नहीं बल्कि की 7.5% की दर से ब्याज देगा।
जुर्माना भी देना होगा
एसबीआई में अगर कोई व्यक्ति पांच लाख रुपये की एफडी कराता है और परिपक्व होने से पहले पैसा निकालता है तो उसे 0.50% जुर्माना देना होगा। इसी तरह 5 लाख से ज्यादा और एक करोड़ से कम की एफडी पर 1% जुर्माना देना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here