Home Latest News Weather alert : चक्रवर्ती तूफान यास का असर हुआ खत्म लेकिन यूपी...

Weather alert : चक्रवर्ती तूफान यास का असर हुआ खत्म लेकिन यूपी के इन जिलों में भारी बारिश और तेज हवाओं का अलर्ट जारी

बंगाल की खाड़ी विश्व की सबसे बड़ी खाड़ी है और हिंद महासागर का पूर्वोत्तर भाग है। यह मोटे रूप में त्रिभुजाकार खाड़ी है जो पश्चिमी ओर से अधिकांशतः भारत एवं शेष श्रीलंका, उत्तर से बांग्लादेश एवं पूर्वी ओर से बर्मा (म्यांमार) तथा अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह से घिरी है।
बंगाल की खाड़ी से उठे यास तूफान (Cyclone Yaas) का असर तो खत्म हो गया है, लेकिन पूरे प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश (Rain Prediction) का सिलसिला जारी रहेगा. मौसम विभाग (Met Department) के अभी तक के अनुमान के मुताबिक मौसम की ऐसी स्थिति 2 जून तक बनी रह सकती है. इसका कारण तूफान का असर नहीं, बल्कि पश्चिमी विक्षोभ के फिर से सक्रिय हो जाना है.
मौसम विभाग के ताजा अनुमान के मुताबिक, अगले कुछ घंटों में यानी 31 मई की दोपहर तक जिन जिलों में बारिश की संभावना है वे जिले हैं- शाहजहांपुर, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, बदायूं, बरेली, सीतापुर, हरदोई, बहराइच और आसपास के जिले. बारिश के साथ-साथ 62 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाओं के चलने की भी आशंका मौसम विभाग ने जताई है. लोगों को इन जिलों में बारिश के दौरान बिजली गिरने के प्रति भी आगाह किया गया है.
लखनऊ से दिल्ली तक असर
बिगड़े मौसम का असर लखनऊ और इसके आसपास के जिलों के साथ ही रूहेलखंड और दिल्ली के आसपास के जिलों में देखने को मिलेगा. हालांकि, हर रोज इसी स्थिति में बदलाव होता रहेगा और पूरे प्रदेश में कुछ जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश होती रहेगी. अनुमान यह है कि 3 जून से पूरे प्रदेश का मौसम साफ हो जाएगा.2 जून के बाद बढ़ेगा तापमान
वैसे तो तूफान यास की वजह से मौसम काफी ठंडा हो गया था और लोगों को भरपूर राहत मिली थी, लेकिन अब जो हल्की से मध्यम बारिश होगी, इसमें लोगों को उमस का सामना करना पड़ेगा. धीरे-धीरे अब दिन और रात के तापमान में भी थोड़ी बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है. अभी तक पूरे प्रदेश में पिछले कई दिनों से मौसम ठंडा बना हुआ था. हालात ये थे कि जिस मई के महीने में दिन का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के ऊपर और रात का तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के ऊपर पहुंच जाता था, वह फिलहाल काफी नीचे चल रहा है.
15-20 जून को मानसून आने की उम्मीद
30 मई को झांसी को छोड़कर प्रदेश के किसी भी जिले में दिन का अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के ऊपर दर्ज नहीं किया गया. ज्यादातर शहरों का तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के आस-पास ही रहा. वहीं, रात का न्यूनतम तापमान किसी भी जिले में 25 डिग्री सेल्सियस के ऊपर दर्ज नहीं किया गया. यह 20 डिग्री सेल्सियस के आसपास ही रिकॉर्ड किया गया. अब दिन और रात दोनों के तापमान में उमस के साथ बढ़ोतरी देखने को मिलेगी. जून के महीने में ही मानसून का भी प्रदेश में प्रवेश होता है. उम्मीद जताई जा रही है कि 15 से 20 जून के बीच मानसून आ सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here