Home Business मोदी सरकार दे रही है सस्ता सोना खरीदने का मौका, आइए जाने

मोदी सरकार दे रही है सस्ता सोना खरीदने का मौका, आइए जाने

सोना एक धातु एवं तत्व है। शुद्ध सोना चमकदार पीले रंग का होता है जो कि बहुत ही आकर्षक रंग है। यह धातु बहुत कीमती है और प्राचीन काल से सिक्के बनाने, आभूषण बनाने एवं धन के संग्रह के लिये प्रयोग की जाती रही है। सोना घना, मुलायम, चमकदार, सर्वाधिक संपीड्य (malleable) एवं तन्य (ductile) धातु है।
वित्त वर्ष 2021-22 के लिए साॅवरेन गोल्ड बाॅन्ड की पहली बिक्री आज से शुरू हो रही है। यह बिक्री 21 मई तक चलेगी। वहीं बाॅन्ड 25 मई को जारी किए जाएंगे। वित्त मंत्रालय के अनुसार अगले कुछ महीनों में साॅवरेन गोल्ड बाॅन्ड 6 किश्तों में जारी किए जाएंगे। यह उन लोगों के लिए अच्छा मौका है जिनको सोने में इनवेस्टमेंट करना पसंद है।
1 ग्राम सोने में भी कर सकते हैं इनवेस्ट
आज से शुरू हो रही साॅवरेन गोल्ड बाॅन्ड की कीमत 4,777 रुपये प्रति ग्राम है। इस स्कीम के जरिए कोई भी इनवेस्टर कम से कम एक ग्राम सोना और ज्यादा 4 किलो सोना खरीद सकता है। जबकि ट्रस्ट और समान संस्थाएं के लिए खरीद की अधिकतम सीमा 20 किलोग्राम है। यह बाॅन्ड 8 साल के जारी किए जाते हैं लेकिन जरूरत पड़ने पर 5 साल बाद भी इसके निकासी का विकल्प रहता है। गोल्ड बॉन्ड के लिए आईबीजेए द्वारा 999 शुद्धता के सोने के प्रकाशित सामान्य औसत बंद भाव पर आधारित है।
प्रति दस ग्राम बचाएं 500 रुपये
भारत सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की बातचीत के बाद यह तय हुआ कि अगर कोई इनवेस्टर साॅवरेन गोल्ड बाॅन्ड की खरीदारी का भुगतान ऑनलाइन करता है, तो उसे प्रति ग्राम 50 रुपये की छूट मिलेगी। यानी दस ग्राम पर 500 रूपये तक बचाए जा सकते हैं। इससे प्रति 10 ग्राम सोने की कीमत 4,777 रूपये से घटकर 4,277 रूपये आ जाती है।
यहां से खरीद सकते हैं सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड
मंत्रालय के मुताबिक बांड स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, नामित डाकघरों और मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज लिमिटेड के माध्यम से बेचे जाएंगे। लघु वित्त बैंक और भुगतान बैंकों को बॉन्ड बेचने की अनुमति नहीं होगी। भारत सरकार की तरफ से ये बॉन्ड रिजर्व बैंक द्वारा जारी किए जायेंगें।
ये हैं नियम
बांड खरीदने के लिए अपने ग्राहक को जानो (केवाईसी) संबंधी मानदंड उसी तरह के होंगे जैसे कि बाजार से सोना खरीदते हुए होते हैं। सरकार की साॅवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना नवंबर 2015 में शुरू हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here