Home Lifestyle साधारण शिष्य से कैसे बने योगा गुरु बाबा रामदेव, जानिए विस्तार से

साधारण शिष्य से कैसे बने योगा गुरु बाबा रामदेव, जानिए विस्तार से

रामकृष्ण यादव भारतीय योग-गुरु हैं, जिन्हें अधिकांश लोग स्वामी रामदेव के नाम से जानते हैं। उन्होंने योगासन व प्राणायामयोग के क्षेत्र में योगदान दिया है। रामदेव जगह-जगह स्वयं जाकर योग-शिविरों का आयोजन करते हैं, जिनमें प्राय: हर सम्प्रदाय के लोग आते हैं। रामदेव अब तक देश-विदेश के करोड़ों लोगों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से योग सिखा चुके हैं। भारत से भ्रष्टाचार को मिटाने के लिये अभियान इन्होंने प्रारम्भ किया।
योग गुरु रामदेव बाबा को तो हम सभी जानते है. असल में इनका नाम रामकृष्ण यादव है. लेकिन इनोन्हे युवावस्था में ही सन्यास ले लिया जिसके बाद हम इन्हें स्वामी रामदेव के नाम से जानते है.
नाम – रामकृष्ण यादव
जन्म – 26 दिसंबर 1965
माता – गुलाबो देवी
पिता – रामनिवास यादव
जन्म स्थान – अली सैयदपुर, महेंद्रगढ़,हरियाणा
गुरु – आचार्य प्रधुम्न, योगाचार्य बलदेव
व्यवसाय – योग गुरु, पतंजलि
बाबा रामदेवजी का प्राणायाम और योगा में बहुत बड़ा योगदान है, इनोन्हे आजतक कई कोंगो को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से योगा सिखाया है. बाबा रामदेव जी का शुरुवाती समय काफी संघर्षमय रहा है. बाद में आस्था टीवी वालो ने इनका योगा कार्यक्रम प्रातः समय टेलीविज़न पर दिखाना शुरू कर दिया जिससे बाबा रामदेवजी लोगो के बिच प्रसिद्ध हो गए.
इनोन्हे पतंजलि योगपीठ की स्थापना की साथ ही पतंजलि नाम की कंपनी है जो की आयुर्वेद के उत्पाद बनाती है. इनके सहयोगी है आचार्य बालकृष्ण और वो पतंजलि के अध्यक्ष है. पतंजलि की विदेशो में भी शाखा है. बाबाजी ने हमेशा से स्वदेशी वस्तुओ को अपनाने पर जोर दिया है. पतंजलि की स्वदेशी वस्तुए लोगो को काफी पसंद आ रही है. इसीलिए पतंजलि आज बाजार में काफी तेजी से उभर रही है.
बाबा रामदेवजी ने नजदीकी गांव शहजादपुर से आठवी कक्षा तक पढाई पूरी करने के बाद खानपुर गाव के गुरुकुल से वेद, संस्कृत और योग की शिक्षा ली. आज भी बाबा रामदेवजी समय समय पर योग शिबिरो का आयोजन करते है और प्रत्यक्ष रूप से वहा जाकर लोगो को योगा सिखाते है. साथ ही बाबा रामदेव ने भारत से भ्रष्टाचार मिटाने के लिए अभियान प्रारम्भ किया था. बाबा रामदेवजी को अभीतक कई पुरस्कार भी मिल चुके है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here