Home Astrology इस पेड़ के चमत्कारी फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान, आइए जाने

इस पेड़ के चमत्कारी फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान, आइए जाने

अशोक को बंगला में अस्पाल, मराठी में अशोक, गुजराती में आसोपालव तथा देशी पीला फूलनों, सिंहली में होगाश तथा लैटिन में जोनेशिया अशोका (Jonasia Ashoka) अथवा सराका-इंडिका (Saraca Indica) कहते हैं।
दोस्तों व्रक्ष लगना आज के दौर में बहुत ही जरूरी है। व्रक्ष ना केवल छाया ही देते है बल्कि हमसे जुड़ी कई समस्याओं को भी खत्म कर देते है उन्ही में से एक खास किस्म का व्रक्ष है जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं जिसका नाम है अशोक व्रक्ष आइये जानते है इसके कुछ अनजान से फायदे।
तंत्रशास्त्रों में भी अशोक वृक्ष
(1) जिस घर के उत्तर की ओर अशोक वृक्ष लगा होता है उस में बिनबुलाए शोक नहीं आते।
(2) सोमवार के दिन शुभ मुहूर्त में अशोक के पत्तों को लाकर घर में रखने से अमन-चैन-होता है, श्री वृद्धि होती है।
(3) अशोक वृक्ष का बांदा चित्रा नक्षत्र में लाकर रखने से ऐश्वर्य वृद्धि होती है।
(4) उत्तराषाढ़ा में निकाला गया अशोक का बांदा अदृश्यीकरण हेतु होता है।
अशोक के ज्योतिषीय महत्व
(1) अशोक के नीचे स्नान करने वाले व्यक्ति की ग्रहजनित बाधाएँ दूर हो जाती हैं।
(2) मंदबुद्धि/ स्मृति लोप के शिकार एवं ऐसे जातक जिसकी पत्रिका में बुध ग्रह नीच का हो उनके लिए वृक्ष के नीचे स्नान करना शुभकारी होता है।
अशोक वृक्ष का वास्तु में महत्व
(1) इस वृक्ष को घर के उत्तर में रोपित करना विशेष शुभ है।
(2) अशोक के वृक्ष को घर में रोपण करने से घर में लगे हुए अन्य अशुभ वृक्षों का दोष समाप्त होता है
(3) अशोक/पाकर/पीपल/बड़ और आम्र जिस कुँज में होते हैं उसके स्वामी का शरीर एवं आर्थिक स्तर सदैव उत्तम रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here