Home Gadget and Tech स्मार्टफोन भी बन सकता है मौत का कारण इतने दिनों तक जीवित...

स्मार्टफोन भी बन सकता है मौत का कारण इतने दिनों तक जीवित रहता है इस पर कारोना

कोरोनावायरस (Coronavirus) कई प्रकार के विषाणुओं (वायरस) का एक समूह है जो स्तनधारियों और पक्षियों में रोग उत्पन्न करता है। यह आरएनए वायरस होते हैं। इनके कारण मानवों में श्वास तंत्र संक्रमण पैदा हो सकता है जिसकी गहनता हल्की (जैसे सर्दी-जुकाम) से लेकर अति गम्भीर (जैसे, मृत्यु) तक हो सकती है।
स्मार्टफोन हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का अहम हिस्सा बन गया है। स्मार्टफोन की सतह को हम दिन में बार-बार टच करते हैं, ऐसे में जर्म्स और वायरस स्मार्टफोन की सतह पर ही मौजूद होते हैं। नॉवल कोरोनावायरस या COVID-19 का संक्रमण तेजी से फैल रहा है, ऐसे में स्मार्टफोन पर वायरस होने को लेकर कई सवाल उठ रहे थे, कि आखिरकार फोन पर यह वायरस कितनी देर तक जिंदा रह सकता है। इसी बात पर ध्यान देते हुए आज हम आपके लिए ये रिपोर्ट लेकर आए हैं।
वैसे इस स्टडी में ग्लास के बारे में तो नहीं बताया गया, लेकिन अगर दूसरे फैक्टर देखें तो संकेत मिलते हैं कि कोरोना भी सार्स की तरह ही ग्लास सर्फेस पर 4 दिन तक रह सकता है। इसलिए जरूरी है कि आप अपने फोन को क्लीनिंग लिक्विड या माइक्रोफाइबर कपड़े का इस्तेमाल कर साफ करते रहें ताकि फोन पर कोरोना वायरस रहने का खतरा ना रहे।
गैजेट को सैनिटाइज करने के लिए सबसे बेहतर है कि आइसोप्रॉपिल अल्कोहल सॉल्यूशन का इस्तेमाल करें, लेकिन इस लिक्विड में 70 प्रतिशत से ज्यादा आसोप्रॉपिल नहीं होना चाहिए नहीं तो फोन की डिस्प्ले खराब हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here