Home Latest News दिल्ली सीएम केजरीवाल करुणा के बढ़ते सीबीएसई की परीक्षा रद्द करने की...

दिल्ली सीएम केजरीवाल करुणा के बढ़ते सीबीएसई की परीक्षा रद्द करने की अपील और कह दी ये बात, आइए जाने

कोरोनावायरस (Coronavirus) कई प्रकार के विषाणुओं (वायरस) का एक समूह है जो स्तनधारियों और पक्षियों में रोग उत्पन्न करता है। यह आरएनए वायरस होते हैं। इनके कारण मानवों में श्वास तंत्र संक्रमण पैदा हो सकता है जिसकी गहनता हल्की (जैसे सर्दी-जुकाम) से लेकर अति गम्भीर (जैसे, मृत्यु) तक हो सकती है।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर केंद्र सरकार से 10वीं और 12वीं की सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि बच्चों की सुरक्षा जरूरी है। सीबीएसई की परीक्षा के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि सीबीएसई की परीक्षाओं में इस बार दिल्ली के 6 लाख बच्चे बैठेंगे और 1 लाख टीचर भी शामिल होंगे। अगर उनकी सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम नहीं किए गए तो परीक्षा केंद्र बड़े हॉटस्पॉट बन सकते हैं।
केजरीवाल ने कहा कि मेरी केंद्र सरकार से अपील है कि सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द किया जाए। बोर्ड परीक्षाएं आयोजित कराने से कोरोना वायरस का संक्रमण व्यापक स्तर पर फैल सकता है, असेसमेंट के वैकल्पिक तरीकों को खोजा जा सकता है। छात्रों को ऑनलाइन परीक्षा या इंटरनल असेसमेंट के आधार पर अगली कक्षाओं में भेजा जा सकता है।
दिल्ली में तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि राजधानी में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 13,500 से अधिक मामले सामने आए हैं। दिल्ली सरकार स्थिति को लेकर पूरी तरह सतर्क है और इससे निपटने के लिए सभी जरूरी कदम उठा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार की कोरोना लहर बहुत ज्यादा खतरनाक है। इस लहर में युवा और बच्चे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। इस बार 65 प्रतिशत मरीज 45 साल से कम उम्र के हैं। मेरा युवाओं से निवेदन है कि जब भी आप घर से बाहर निकलें तो कोविड दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करें। उन्होंने कहा कि लोगों को कई तरह की जिम्मेदारी के लिए घर से निकलना पड़ता है, लेकिन जब ज्यादा जरूरी हो, तभी बाहर निकलें। घर से निकलने पर सारे कोविड प्रोटोकॉल को फॉलो करें क्योंकि अपनी सुरक्षा अपने हाथ में हैं। केजरीवाल ने कहा कि यदि आप 45 साल से अधिक उम्र के हैं, तो तुरंत वैक्सीन लगवाएं। ये वैक्सीन सारे सरकारी अस्पतालों में फ्री में लगाई जा रही हैं।

केजरीवाल ने कहा कि हम लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते, इसके लिए बड़ी प्लानिंग कर रहे हैं और बड़े बैंक्वेट हॉल और होटल को अटैच कर रहे हैं। कम बीमारी वाले मरीजों को बैंक्वेट होल में शिफ्ट करेंगे। किसी को ऑक्सीजन की जरूरत होगी, तो बैंक्वेट हॉल में भी इलाज हो सकता है। बेड की कैपेसिटी बढ़ा कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि सरकार ने कुछ सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों को 100 प्रतिशत कोविड डेडिकेटिड अस्पताल के रूप में घोषित किया है। सभी से सहयोग की अपेक्षा है।
मैं उम्मीद करता हूं कि अस्पताल वाले भी इसमें मदद करेंगे। नॉन कोविड बीमारी और पहले से तय सर्जरी को डिले किया जाए- जैसे घुटना बदलवाना। इमरजेंसी के लिए पूरा इंतजाम है। अगर हमने अस्पतालों को मैनेज कर लिया, तो हम कोविड की इस वेब पर भी अच्छे से काबू पा लेंगे। एक एक मरीज जो अस्पताल में हैं, उन्हें डॉक्टर चेक कर रहे हैं, यदि वे घर में ठीक हो सकते हैं, तो अस्पताल का बेड खाली करें। जब वे घर जाएंगे, तब भी मॉनिटर करेंगे, ऑक्सीमीटर देकर भेजेंगे, तबीयत खराब होने पर फिर अस्पताल में भर्ती करेंगे। अगर उन्हें बेड की जरूरत नहीं है, तो घर में रहकर ही इलाज करवाएं। सभी से अनुरोध है कि डॉक्टर की सलाह के मुताबिक, सहयोग करें। सबकी जान कीमती है, सभी को बचाना है।
केजरीवाल ने कहा कि पिछली बार लोगों ने बढ़-चढ़कर प्लाज्मा डोनेट किया था। अब फिर स्टॉक में प्लाज्मा कम है, रोजाना प्लाज्मा की डिमांड आ रही है। सभी से निवेदन है कि जो कोरोना से ठीक हुए हैं, वे प्लाज्मा डोनेट करें। यही समय है, जब हम स्वार्थ छोड़कर एक दूसरे की मदद करें। दिल्ली वाले हम सब एक परिवार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here