नई दिल्ली: Delhi Oxygen shortage :दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर हाहाकार मचा हुआ है. कोरोना के तमाम मरीज बिना ऑक्सीजन के कराह रहे हैं, लेकिन कुछ लोग इस मौके का भी फायदा उठाकर मानवता को शर्मसार कर रहे हैं. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने ऐसे ही एक शख्स को दबोचा है, जो ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) की कालाबाजारी कर रहा था. आरोपी ने बड़ी संख्या में सिलेंडर अपने घर पर ही छिपा रखे थे. दक्षिणी पश्चिमी दिल्ली के सागरपुर इलाके के दशरथपुरी में एक घर से ऑक्सीज़न के 67 बड़े और 16 छोटे सिलेंडर बरामद किए गए हैं. दिल्ली पुलिस ने छापा मारकर इनकी बरामदगी की.

 घर का मालिक 51 साल का अनिल कुमार इंडस्ट्रियल ऑक्सीज़न के कारोबार में है.हालांकि उसके पास इसका कोई लाइसेंस नहीं है.अनिल बड़े सिलेंडर से ऑक्सीज़न छोटे सिलेंडर में भरता है और जरूरतमंद को 12500 रुपये में बेच रहा था.अनिल का मायापुरी में एक गोदाम भी है. पुलिस ने ने कोर्ट ने जब्त सिलेंडरों को जरूरतमंदों को बांटने की अनुमति मांगी थी जो कोर्ट ने दे दी है.ये सिलेंडर कल जरूरतमंदों को पुलिस देगी.आरोपी अनिल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

गौरतलब है कि दिल्ली में सर गंगाराम जैसे बड़े अस्पतालों के अलावा दर्जनों छोटे बड़े हॉस्पिटल ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं. कई अस्पतालों के पास महज कुछ घंटे की ऑक्सीजन बची है. ऑक्सीजन जब खत्म होने की कगार पर होती है तो तीमारदारों से कह दिया जाता है कि वे अपने मरीजों को दूसरे अस्पतालों में ले जाएं. इससे अफरातफरी का माहौल पैदा हो जाता है. ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल समेत तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों की आज बैठक हुई.

वहीं दिल्ली में ऑक्सीजन आपूर्ति की निगरानी के लिए 24/7 कंट्रोल रूम बना है. इसमें शिकायत का 30 मिनट में समाधान करना होगा.इस कंट्रोल रूम में एक हेल्प डेस्क भी बनाया जाएगा जिसका काम केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार के और प्राइवेट अस्पतालों की ऑक्सीजन संबंधित शिकायतों का निपटारा करना होगा.ऐसी शिकायतों को आधे घंटे के भीतर निपटाना होगा.अगर आधे घंटे के भीतर शिकायत और समस्या का समाधान नहीं होता तो विजय बिधूड़ी नाम के आईएएस की जिम्मेदारी होगी कि शिकायत का समाधान करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here