Home Lifestyle ऐसी पेंटिंग जिसने हजारों लोगों की लीं जानें, जानिए

ऐसी पेंटिंग जिसने हजारों लोगों की लीं जानें, जानिए

पेंटिंग पेंट, रंगद्रव्य, रंग या अन्य माध्यम को एक ठोस सतह (जिसे “मैट्रिक्स” या “समर्थन” कहा जाता है) लगाने का अभ्यास है। माध्यम को आमतौर पर ब्रश के साथ बेस पर लागू किया जाता है, लेकिन चाकू, स्पंज और एयरब्रश जैसे अन्य उपकरणों का उपयोग किया जा सकता है। अंतिम काम को पेंटिंग भी कहा जाता है।
दोस्तों अगर हम आपसे ये कहें कि एक पेटिंग ऐसी है जिसने हजारो जानें ली हैं और लोगों की सामान्य सी जिंदगी को तबाही के मंजर में बदल दिया, तो शायद आप हमारी बात पर विश्वास नहीं करेंगे। पर आपको बता दें कि ये बिल्कुल सच है। दरअसल ये कहानी है एक ऐसे ‘शापित पेंटिंग’ की जो कई हादसों की जिम्मेदार मानी गई है। इसके बारे में कहा जाता है कि ये पेटिंग जहां भी लगी वहां तबाही मच गई। अगर आप अभी इस पर विश्वास नहीं कर पा रहें हैं तो आपको बता दें कि इस पेंटिंग के बारे में आपको बहुत सी अजीबो-गरीब जानकारी इंटरनेट पर सर्च करने से भी मिल जाएगी। लेकिन आज हम आपको इसके वास्तविक रहस्य से रूबरूं कराने जा रहे हैं।
आज तक ऐसे बहुत से चित्रकार हुए जिनके हाथों से कला का नायाब हुनर पूरी दुनिया को देखने को मिला.. किसी ने अपनी पेटिंग में जीती जागती तस्वीर बनाई तो किसी ने तो दुनिया को कुछ अलग ही दिखाया। बदले में दुनिया ने भी इन चित्रकारों को सर-आखों पर बिठाया पर आज हम आपको एक ऐसे चित्रकार के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने अपनी एक मशहूर पेंटिंग की वजह से जितनी तारीफे पाई उससे कहीं ज्यादा बदनामी और लोगों की नफरत भी झेलनी पड़ी। हम बात तक रहे हैं इटली के मशहूर चित्रकार ‘जियोवनी ब्रागोलिन’ की बनाई पेंटिंग की । दरअसल जियोवनी ब्रागोलिन ने 1985 में एक रोते हुए बच्चे की एक जीवंत तस्वीर बनाई थी जिसका नाम रखा गया ‘द क्राइंग ब्‍वॉय’ । ये पेटिंग इतनी जानदार थी कि इसे ब्रागोलिन की सबसे सर्वश्रेष्ठ कृति में स्थान मिला ।

उस समय क्राइंग ब्वॉय की पेटिंग को लोगों ने बेहद पसंद किया जिससे प्रेरित होकर ब्रागोलिन ने इसकी पूरी श्रृंखला तैयार कर दी। पेंटिंग की इतनी मांग हुई कि इसकी 50,000 तक प्रतियां बनाई गईं जो कि बिक भी गई। ऐसे में इस पेटिंग ने ब्रागोलिन की शोहरत दूर दूर तक फैला दी लेकिन फिर इसी पेटिंग ने जो तबाही मचाई उससे ब्रागोलिन को बदनामी भी मिली।
इसके बारे में कहा जाता है जिस-जिस ने इस पेंटिंग को खरीदकर अपने घरों में सजाया, उसकी जिंदगी तबाह हो गई। उनके घरों में भयानक आगजनी का सिलसिला शुरू हो गया। ऐसे में अखबारों में इस तस्वीर की खबरे आने लगी और सबसे बड़ी खबर तब आई जब एक फायरब्रिगेड के कर्मचारी ने इससे जुड़ा एक बयान दिया।
उस अग्‍निशमन रक्षक ने जानकारी देते हुए बताया कि वह करीब ऐसे 15 घरों में आग लगने पर अपनी टीम के साथ गया जहां घर में द क्राइंग ब्‍वॉय पेंटिंग मिली। उससे भी ज्यादा भी आश्चर्यजनक बात तो उसने ये बताई कि जब उनकी टीम घर में पहुंचती तो वहां का सारा सामान तो जल चुका होता था मगर वो पेंटिंग बिल्कुल ही सुरक्षित मिलती।

इस खबर के सामने आते ही उस तस्वीर को शापित माना जाने लगा। लोगों अपने घरों से उस तस्वीर को निकाल फेंकने लगें और बाद में एक मीडिया संस्था के कहने पर ही हैलोवीन त्‍योहार पर ओयोजित बोन फायर में इस पेंटिंग की हजारों प्रतियां जलाकर राख कर दीं गईं। जिसके बाद आगजनी के हादसों में भी कमी आने लगी। इस तरह हमेशा के लिए ये द क्राइंग ब्‍वॉय पेंटिंग शापित मान ली गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here