Home Lifestyle विदुर नीति के अनुसार इन 5 तरह के लोगों से दोस्ती करना...

विदुर नीति के अनुसार इन 5 तरह के लोगों से दोस्ती करना मतलब आपकी बर्बादी के कारण, तुरंत जान ले नहीं तो पछताना पड़ेगा

हिन्दू ग्रंथों में दिये जीवन-जगत के व्यवहार में राजा और प्रजा के दायित्वों की विधिवत नीति की व्याख्या करने वाले महापुरुषों ने महात्मा विदुर सुविख्यात हैं। उनकी विदुर-नीति वास्तव में महाभारत युद्ध से पूर्व युद्ध के परिणाम के प्रति शंकित हस्तिनापुर के महाराज धृतराष्ट्र के साथ उनका संवाद है।
विदुर नीति में कुछ सूत्र दोस्ती के लिए बताए गए हैं। दोस्ती सिर्फ एक शब्द नहीं होता ये कुछ लोगों के बीच का वो संबंध होता है जिसमें खून का रिश्ता ना होते हुए भी वो रिश्ता बन जाता है जो सबसे ऊपर होता है। कई बार इस रिश्ते में भी लोग धोखा खा जाते हैं, इससे बचने के लिए विदुन नीति में कुछ ऐसी बाते बताई हैं जिससे आप परेशानी में पड़ने से बच सकते हैं। किसी भी दोस्त का चुनाव करने से पहले कुछ बातों को ध्यान में रखना चाहिए…
अभिमानी :- जिन लोगों को अपने पैसे, पद, या किसी अन्य तरह का घमंड होता है। वो लोग कभी भी बिना सोचे समझे किसी का भी मजाक उड़ा सकते हैं। ऐसे लोगों से दोस्ती करते समय सावधानी जरुर रखनी चाहिए।
मूर्ख :- उस व्यक्ति को मूर्ख कहा जाता है जिसे अच्छे-बुरे, धर्म- अधर्म किसी का भी ज्ञान नहीं होता है। ऐसे लोगों से दोस्ती करना आपके जीवन में परेशानी खड़ी कर सकता है। दोस्ती करने से पहले जरुर सोच लेना चाहिए।
क्रोधी :- जिस व्यक्ति को हर छोटी बात पर गुस्सा आता है, उस व्यक्ति से जितना दूर रहा जा सके उतना अच्छा होता है। ऐसे लोगों के बहुत से दुश्मन होते हैं क्योंकि ये अपने शब्दों से हर किसी को चोट ही पहुंचाते हैं।
अधिक साहसी :- कुछ लोग कई बार अपना बड़प्पन दिखाने के लिए ऐसा साहसी काम कर बैठते हैं जिसके कारण बड़ी समस्या में पड़ जाते हैं। ऐसे लोगों से कई बार दोस्ती करना लाभदायक भी होता है और नुकसानदायक भी, इसलिए सोच कर कदम उठाना ही बेहतर माना जाता है।
धर्महीन पुरुष :- जो लोग धर्म पर विश्वास नहीं करते हैं उनका कभी भी भला नहीं हो पाता है। इसी के साथ वो हमेशा अधर्म की बाते करते हैं और उसी तरह के कर्म करते हैं। ऐसे लोगों के कारण आपमे भी उसी तरह के गुण आ सकते हैं। संगति का असर किसी पर भी हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here