Home Ajab Gajab 5 ऐसे सबसे बड़े गद्दार जिनका नाम भारत के इतिहास में दर्ज...

5 ऐसे सबसे बड़े गद्दार जिनका नाम भारत के इतिहास में दर्ज है, नंबर 1 की वजह से हुई थी भगत सिंह को फांसी

आज हम आपको भारतीय इतिहास के 6 सबसे बड़े गद्दार के बारे में बताएंगे.
6) राजा रणवीर सिंह – जम्मू और कश्मीर रियासत के महाराज एवं जामवल राजपूत वंश के मुखिया राजा रणवीर सिंह भारतीय इतिहास के बड़े गद्दार माने जाते है. राजा रणवीर सिंह ने भी देश के साथ गद्दारी करते हुए अंग्रेजों का साथ दिया. पंजाब में चल रहे सिख विद्रोह को खत्म करने के लिए अंग्रेजों को सेना और हथियार मुहैया करवाया.
5) मीर जाफर – मीर जाफर बंगाल के नवाब सिराजुद्दौला का सेनापति था. जाफ़र एक अवसरवादी और महत्वकांक्षी इंसान था. जाफ़र का सपना बंगाल की सत्ता हासिल करना था. सत्ता के लिए ही जाफ़र ने अपने देश से गद्दरी की और अंग्रेजों का साथ दिया. प्लासी के युद्ध में जाफ़र ने गद्दारी की जिसके चलते बंगाल का नवाब युद्ध हार गया.
यही से ब्रिटिश शासन ने अपने पैर भारत में पसारने शुरू कर दिए. इस युद्ध को जितने के बाद से ही अंग्रेजों को भारत में राज्य विस्तार में मदद मिली. वहीं मीर जाफ़र को उसकी गद्दारी के इनाम में वादे के अनुसार बंगाल का नवाब बनाया गया लेकिन सिर्फ नाम के लिए असली हुकुमत अंग्रेजों के हाथ में ही रही. बाद में अंग्रेजों ने एक गद्दार की मदद से मीर जाफर को भी मार डाला.
4) जीवाजी राव सिंधिया – साल 1857 की क्रांति के बाद ग्वालियर के महाराजा जीवाजी राव सिंधिया ने अपनी सेना को अंग्रेजों के साथ खड़ा कर दिया था. इतना ही नहीं जीवाजी राव सिंधिया ने ही रानी लक्ष्मीबाई को अंग्रेजों के हाथों मरवा दिया था. देश से गद्दारी करने वाले इस राजा को अंग्रेजों ने नाइट्स ग्रैंड कमांडर का खिताब भी दिया था.
3) राय बहादुर जीवन लाल – राजा कराय बहादुर लाल ने भी देशद्रोही की भूमिका निभाते हुए अंग्रेजों के लिए अपने दरवाजे को खोले रखा. कहा जाता है कि इस राजा के पिता राजा रघुनाथ बहादुर थे. औरंगजेब के मंत्री रहे राजा राय बहादुर ने मुगल सत्ता खत्म करने के लिए अंग्रेजों से दोस्ती कर ली और अंग्रेज़ी हुकूमत का गुलाम बनकर देश की गद्दारी करता रहा.
2) जयचंद – कन्नौज साम्राज्य के राजा जयचंद को भारतीय इतिहास के बड़े गद्दारों में से एक है. जयचंद ही वह गद्दार था जिसने मोहम्मद गौरी के साथ मिलकर पृथ्वीराज चौहान पर हमला किया था. और बाद में पृथ्वीराज चौहान की मौत हुई थी. हालांकि, पृथ्वीराज ने मरने से पहले मोहम्मद गौरी को मार दिया था. आने वाली पृथ्वीराज चौहान की बायोपिक में जयचंद का किरदार आशुतोष राणा निभाते नजर आएंगे.
1) फणींद्रनाथ घोष – भारतीय इतिहास के गद्दारों में शामिल फणींद्रनाथ घोष ने सैंडर्स वध और असेंबली में बम फेंकने के केस में क्रांतिकारी भगत सिंह के खिलाफ गवाही दी थी. फणींद्रनाथ घोष ही वह शख्स थे जिनकी गवाही के अधार पर ही भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी के फंदे तक पहुंचाया जा सका.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here