Home Ajab Gajab 2 दिनों में इस मंदिर पर आया इतना रुपया की गिनते गिनते...

2 दिनों में इस मंदिर पर आया इतना रुपया की गिनते गिनते थक गए पुजारी, नाम जानकर यकीन नहीं होगा

भारत में ईश्वर के प्रति आस्था और विश्वास का दृश्य भक्तों में खूब देखने है। कहते है कि भारतीयों की भक्ति की तुलना पूरे विश्व में किसी से नहीं की जा सकती हैं। भक्त कैसी भी परिस्थिति में हो, अगर ईश्वर के दर्शन के लिए मंदिर में गया हो, तो उनके लिए प्रसाद और फूल-मालें लेना नहीं भूलता है। साथ ही मंदिर के दान-पेटिका में अपने आस्था के अनुसार कुछ पैसे दान जरूर करता है। भारत में ऐसे कई मंदिर है, जहां लाखों-करोड़ों का दान मिलता है। इतने दान को गिनने में कई दिन लग जाते है। कुछ ऐसा ही मामला राजस्थान के मंदिर में दिखने को मिला है, जहां मंदिर परिषद के लोग 2 दिन से चढ़ाए गए पैसे गिन रहे हैं।

सुर्खियों में छाया मेवाड़ की मंदिर

आपको बता दें कि राजस्थान के मेवाड़ में प्रसिद्ध तीर्थ श्री सांवलिया सेठ (Shri Sanwaliya Seth Temple) का मंदिर है, जहां भारी संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ती है। बताया जा रहा है कि बीते बुधवार को इस मंदिर की दान पेटिका खोली गई थी। इस दान पेटिका को खोलने के बाद इसकी चर्चाएं सुर्खियों से लेकर लोगों के जुबां तक छा गई। बता दें कि दान पेटिका में इतने चढ़ाए गए रुपए मिले है, जिन्हें अभी तक गिना जा रहा है।

 

दो दिन से हो रही है नोटों की गिनती

जानकारी के मुताबिक, श्री सांवलिया सेठ के मंदिरमें जब दान पेटिका खोला गया तब मंदिर मंडल के सीईओ और जिला कलेक्टर रतन कुमार स्वामी, मंदिर मंडल बोर्ड के अध्यक्ष कन्हैयादास वैष्णव समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। जैसे ही दान पेटिका खोली गई, वैसे ही लोगों की आंखें चढ़ाए गए रुपए को देख खुली की खुली रह गई। भक्तों द्वारा भगवान को चढ़ाए गए रुपए इतने है कि उसकी गिनती लगातार दो दिन हो रही हैं। कहा यह भी जा रहा है कि लोग रुपयों की गिनती करते-करते थक भी चुके हैं, लेकिन दान किए गए रुपयों की गिनती खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं।

दान में सोना-चांदी भी मिला

बताते चलें कि श्री सांवलिया सेठ के मंदिर के दान पेटिका से करीब 6,17,12,200 रुपए निकाले गए हैं। इसके अलावा दान पेटिका से 91 ग्राम सोना, 4.2 किलोग्राम चांदी भी मिला हैं। वहीं नोटों की गिनती के लिए काफी लोगों को काम पर लगाया है, जोकि अभी तक जारी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here