Home Lifestyle विदुर नीति में ये लक्षण बताए गए हैं मूर्ख व्यक्ति के, तुरंत...

विदुर नीति में ये लक्षण बताए गए हैं मूर्ख व्यक्ति के, तुरंत जान ले वरना बाद में पछताना पड़ेगा

हिन्दू ग्रंथों में दिये जीवन-जगत के व्यवहार में राजा और प्रजा के दायित्वों की विधिवत नीति की व्याख्या करने वाले महापुरुषों ने महात्मा विदुर सुविख्यात हैं। उनकी विदुर-नीति वास्तव में महाभारत युद्ध से पूर्व युद्ध के परिणाम के प्रति शंकित हस्तिनापुर के महाराज धृतराष्ट्र के साथ उनका संवाद है। विदुर जानते थे, युद्ध विनाशकारी होगा। महाराज धृतराष्ट्र अपने पुत्र (दुर्योधन) मोह में समस्या का कोई सरल समाधान नहीं खोज पा रहे थे। वह अनिर्णय की स्थिति में थे। दुर्योधन अपनी हठ पर अड़ा था। दुर्योधन की हठ-नीति विरुद्ध थी।
दोस्तों विदुर नीति में विदुर ने मनुष्यों के बारे में बहुत सारी ऐसी बातें बताई है जिसे आज के मनुष्यों को जानना बहुत ही जरूरी है आज हम आप लोगों को विदुर नीति में बताई गई मूर्ख मनुष्य के 6 लक्षण के बारे में बताने जा रहे हैं।
मूर्ख व्यक्ति में होते है ये 6 लक्षण-
1. मूर्ख व्यक्ति हमेशा बड़े-बड़े सपने देखता है और एक छोटा सा परिश्रम भी नहीं करता है। जो व्यक्ति मूर्ख होता है वह सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें कर सकता है लेकिन एक छोटा सा काम भी नहीं कर सकता।
2. जो व्यक्ति अपना काम छोड़कर दूसरे के कार्य को करता है वह मूर्ख व्यक्ति कहलाता है इसके अलावा कोई व्यक्ति अपने मित्रों के साथ गलत कार्य में संलग्न रहता है वह भी मूर्ख की श्रेणी में आता है।
3. वह व्यक्ति मूर्ख होता है जिसके पास जो होता है उसे पसंद नहीं करता और जो नहीं रहता है उसकी चाहत रखता है।
4. जो व्यक्ति हमेशा बुरे कर्म करता है और शत्रु को मित्र बनाता है तथा मित्र से ईर्ष्या करता है वह बहुत बड़ा मूर्ख होता है।
5. जो व्यक्ति कम समय के कार्य को अधिक समय तक करता है वह मूर्ख व्यक्ति कहलाता है।
6. जो व्यक्ति देवी देवताओं की पूजा नहीं करता और अपने पितरों का श्राद्ध नहीं करता वह व्यक्ति भी मूर्ख होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here