Home Ajab Gajab गरुड़ पुराण के अनुसार महिला हो या पुरुष ऐसा काम करने से...

गरुड़ पुराण के अनुसार महिला हो या पुरुष ऐसा काम करने से जल्द ही हो जाएंगे नपुंसक…|

गरूड़ पुराण वैष्णव सम्प्रदाय से सम्बन्धित है और सनातन धर्म में मृत्यु के बाद सद्गति प्रदान करने वाला माना जाता है। इसलिये सनातन हिन्दू धर्म में मृत्यु के बाद गरुड़ पुराण के श्रवण का प्रावधान है।
अक्सर कहाँ जाता है की इंसान के कर्मो का फल उसे मरने के बाद अगले जन्म में चुकाना पड़ता है। गरुड़ पुराण में स्त्री-पुरुष के संबंधों से जुड़े रहस्यों के बारे में भी बताया है। पुरुष हो या स्त्री दोनों ही यौन संबंधों को लेकर कैसी रुचि रखते हैं, कैसे-कैसे कर्म करते हैं उसके अनुसार अगले जन्म में उन्हें क्या हासिल होगा। गरुड़ पुराण की इन बातों को हम आपको विस्तार से बता रहे हैं.
गरुड़ पुराण के अनुसार जो स्त्री अपने पति को छोड़कर किसी दूसरे पुरुष के साथ संबंध स्थापित करती है वह पाप की भागीदार बनती है। मरने के बाद ऐसी आत्मा को यमलोक की यातना सहनी पड़ती है। इतना ही नहीं वहां छिपकली, सांप या चमगादड़ के रूप में जन्म लेना पड़ता है।
गरुड़ पुराण के अनुसार यदि कोई पुरुष किसी किशोरी कन्या का शारीरिक शोषण करता है तो मृत्यु के बाद उसकी आत्मा नरक में भयानक दण्ड भोगता है। यदि वह आत्मा दूसरा जन्म अजगर के रूप में होता है।
गरुड़ पुराण के अनुसार अपने दोस्त को धोखा देकर उसकी पत्नी से संबंध बनाने को गरुड़ पुराण में महापापी के संज्ञा दी गई है। ऐसे व्यक्ति की आत्मा मरने के बाद गधे के रूप में जन्म मिलता है।
गरुड़ पुराण के अनुसार जो व्यक्ति अपने गुरु से शिक्षा ली और उनकी पत्नी से संबंध बनाने वाले को मृत्यु के बाद नरक जगह मिलता है। ऐसे व्यक्ति को दण्ड के रूप में बिलकुल कठोर दण्ड मिलता है। ऐसे चरित्र वाले व्यक्ति का अगला जन्म गिरगिट के रूप में मिलता है।
गरुड़ पुराण के अनुसार किसी भी महिला की मर्जी के खिलाफ उसका हरण या अहरण करने वाला गरुड़ पुराण के अनुसार महापापी कहा गया है। ऐसे पुरुष की आत्मा मरने के बाद परलोक में कष्ट भोगता है। ऐसे आदमी को ब्रह्मराक्षस के रूप में जन्म मिलता है। ब्रह्मराक्षस एक अदृश्य जीव होता है जो किसी को दिखता नहीं है।
गरुड़ पुराण के अनुसार किसी स्त्री के दामन पर कीचड़ उछालनेवाला व्यक्ति गरुड़ पुराण के अनुसार अगले जन्म में नपुंसक बनता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here