Home Lifestyle ऐसी पत्नियों के साथ घर में प्रवेश करते ही घर में शुरू...

ऐसी पत्नियों के साथ घर में प्रवेश करते ही घर में शुरू हो जाता है लक्ष्मी आना, आइए जाने

भारत में महिलाओं को देवी लक्ष्मी का रूप माना जाता है। जन्म होता है तो घर में लक्ष्मी आती है, बहू बन कर दूसरे घर जाती है तो लक्ष्मी का रूप कहलाती है। लक्ष्मी जैसी पत्नी जिसे प्राप्त हो जाए उसका स्वयं का जीवन ही नहीं आने वाली पीढ़ियों का जन्म भी धन्य हो जाता है। विवाह संस्कार के बाद पति और पत्नी का रिश्ता सात जन्मों का हो जाता है। यदि पत्नी सर्वगुण संपन्न हो तो उसके साथ ही घर में प्रवेश करती हैं लक्ष्मी। आईए जानें धर्म ग्रंथों के अनुसार सही मायनों में कैसी पत्नी होती है लक्ष्मी.
जिस व्यक्ति की पत्नी मन, वचन और कर्म से पवित्र होती है। जीवन में जैसी भी परिस्थितियां हों पति से कोई विभेदन नहीं करती, उसे खुश रखने का भरपूर प्रयास करती है कभी भी उसका मन नहीं दुखाती।
जो पत्नी घर के कामों में निपुण हो और घर गृहस्थी सुचारू रूप से चलाते हुए परिवार का भरण-पोषण अच्छे से कर सकती हो पति से कोई भी बात न छिपाती हो और हमेशा सच का आचरण रखती हो। ऐसे गुणों वाली पत्नी ही श्रेष्ठ मानी गई है।
लक्ष्मी समान पत्नी घर में रहते हुए, गृहस्थ धर्म निभाते हुए उग्र साधना करती है कि साधु–संतों की साधना को भी मात दे देती है। पत्नी का पतिव्रत धर्म ही ऐसा अमोघ शस्त्र है, जिसके सम्मुख बड़े–बड़े वीरों के शस्त्र भी कुंठित हो जाते हैं।
जिस व्यक्ति की पत्नी क्रोधी स्वभाव की होती है, पति को प्रेम नहीं करती, पतिव्रत धर्म का पालन न करती हो हमेशा पति को दुख देती रहती हो। ऐसी पत्नी को तुरंत त्याग देना चाहिए। जहां प्रेम का अभाव है वहां कोई रिश्ता नहीं रखना चाहिए।
जो पत्नी ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नान कर पति के लिए श्रृंगार करती है। ईश पूजन करने के उपरांत सुचारू रूप से घर गृहस्थी के काम करती है, बड़ों से सम्मान और छोटो से प्यार, घर आए अतिथियों का उचित सम्मान करना, आय के अनुसार गृहस्थी चलाना आदि कार्यों में दक्ष होती है ऐसी पत्नी अपने पति से भरपूर प्यार पाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here