Home Lifestyle आपकी किस्मत का ताला खोलने के लिए काफी है सवा किलो नमक,...

आपकी किस्मत का ताला खोलने के लिए काफी है सवा किलो नमक, आजमाएं ये उपाय

अगर पैसों की मार ने लंबे समय से आपको परेशान कर रखा है. छोटी छोटी ख्वाहिशों को भी मारना पड़ता है. सारे प्रयास करके देख लिए लेकिन सफलता हाथ नहीं लग रही तो बुधवार के दिन नमक का ये उपाय आजमाकर देखिए. इससे आपकी कुंडली मेंं ग्रहों की स्थिति में बदलाव होगा जिससे आपका भाग्य खुल सकता है.

उपाय के लिए शुक्ल पक्ष के किसी भी बुधवार को दो मिट्टी के बर्तन लें. एक बर्तन में सवा किलो हरी मूंग की साबुत दाल और दूसरे में सवा किलो डेले वाला नमक भर दें. दोनों बर्तनों को किसी सुरक्षित जगह पर रख दें. इस उपाय को करने से परिवार में धन की आय बढ़ जाएगी और पैसा घर में स्थायी रूप से टिकने लगेगा. लेकिन इस उपाय को आपको गुप्त रूप से करना है. इसे करते समय न तो कोई आपको देख पाए और न ही टोक पाए.

इनसे भी होगा लाभ

1- बुधवार के दिन भगवान गणेश के मंदिर में जाकर उन्हें दूर्वा घास और लड्डू अर्पित करें. दूर्वा की 11 या 21 गांठ चढ़ाने से फल जल्दी मिलता है. साथ ही भगवान गणेश के समक्ष गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करें.

2- सात साबुत कौड़ियां और एक मुट्ठी मूंग की दाल को हरे रंग के कपड़े में बांधकर चुपचाप किसी मंदिर की सीढ़ियों पर छोड़ आएं. इस उपाय को बिना किसी के टोके करें.

3- बुधवार को पहले किन्नरों को कुछ पैसे दान दें, फिर कुछ पैसे उनके पास से आशीर्वाद के रूप में ले लें और उन पैसों को पूजा के स्थान पर रखकर धूपबत्ती दिखाएं और हरे कपड़े में लपेटकर धन वाले स्थान पर रख दें. इससे बरकत आएगी.

4- बुधवार के दिन हरे रंग के वस्त्र पहनकर दुर्गा माता के मंदिर में जाएं और उन्हें हरे रंग की चूड़ियां चढ़ाएं.

5- सात बुधवार तक गणपति मंदिर में जाकर भगवान को सिंदूर अर्पित करें. इससे वे बेहद प्रसन्न होते हैं. इसके साथ ही उन्हें गुड़ का भोग लगाएं. इससे वे सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं.

6- बुधवार के दिन पर्स में 7 दाने साबुत मूंग, 10 ग्राम धनिया एक पंचमुखी रूद्राक्ष या हल्दी का गांठ रखें- इससे कभी भी धर्म की कमी नहीं होगी.

7- एक साफ कपड़े में 5 मुट्ठी साबुत मूंग बांधकर मंगलवार की रात उसे पोटली बनाकर रख लें. दूसरे दिन बुधवार को सूरज उगने से पहले उस मूंग को जल में बहा दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here