Home Latest News 1 से 31 जुलाई तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण व 12 से...

1 से 31 जुलाई तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण व 12 से 25 जुलाई तक दस्तक अभियान चलेगा

01 जुलाई से प्रारम्भ होकर 31 जुलाई तक चलने वाले विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं 12 से 25 जुलाई तक चलने वाले दस्तक अभियान के सम्बन्ध में विकास भवन के स्वर्ण जयंती सभागार में आयोजित कार्यशााला की अध्यक्षता करते हुए मुख्य विकास अधिकारी आकांक्षा राना ने स्वास्थ्य विभाग तथा अन्य संबंधित विभाग अधिकारियों से कहा कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान की सफलता के लिए समन्वय बनाकर सुनिश्चित करें।
कार्यशाला में मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभ्यिान के तहत स्वास्थ्य विभाग प्रतिदिन आशाओं के माध्यम से वीएचएनडी सत्रों पर संचारी रोग संबंधी की बैठक के उपरान्त अपने क्षेत्र में टीकाकरण, दिमागी बुखार केस की निगरानी की जायेगी और उपचार की व्यवस्था के साथ गंभीर रोगियों के लिए निःशुल्क 108/102 वाहन की व्यवस्था भी कराई जायेगी तथा नगरीय निकायों द्वारा सभी वार्डो में तथा पंचायती राज विभाग द्वारा प्रतिदिन फॉगिंग, लावीसाइड का छिड़काव के नाली, नालों की सफाई एवं कचरा प्रबन्धक की व्यवस्था की जायेगी। पंचायत राज विभाग के कर्मचारियों द्वारा ग्रामीणों संचारी रोग के प्रति जागरूक करने के लिए प्रत्येक सोमवार को प्रभात फेरी एवं श्रमदानकिया जायेगा, मंगलवार का झाड़ियों की कटाई तथा साफ-सफाई, बुुधवार को ग्राम पंचायत की बैठक, वृहस्पतिवार को उथले हैण्ड पम्पों चिन्हीकरण, शुक्रवार को इण्डिया मार्का हैण्ड पम्प के प्लेटफार्म की मरम्मत और प्रत्येक शनिवार एवं रविवार को गढ्डों के जल भराव का निस्तारण किया जायेगा।
सीडीओ ने कहा कि पशु पालन विभाग द्वारा सूकर पालकों का चिन्हीकरण करने के साथ संचारी रोगों के प्रति संवेदनशील होकर सूकर बाड़ों को आबादी से दूर स्थापित करने हेतु प्रेरित किया जायेगा और पोल्ट्री व्यवसाय अपनाने के लिए प्रेरित करेगें तथा वेक्टर नियंत्रण हेतु पशुवाड़ों का कचरा निस्तारण कराने के साथ सभी बाड़ों में जाली लगाने के प्रेरित किया जायेगा और बेसिक शिक्षा एवं माध्यमिक विभाग द्वारा वेक्टर जनित रोगों से बचाव हेतु बच्चों को प्रतिज्ञा व शपथ दिलाने के साथ जागरूकता रैली, एस0एम0सीव तथा माताओं एवं रसोंइयां की स्वच्छता सम्बन्धी बैठक की जायेगी और शिक्षकों द्वारा घर-घर स्वच्छता के सम्बन्ध में ग्रामवासियों को जागरूक करेगें तथा स्कूल मेला एवं मीना मंच का आयोजन किया जायेगा। दिव्यांग एवं समाज कल्याण विभाग द्वारा डिसएबिलिटी रिहैब्लिटेशन सेंटर का सुदृणीकरण तथा विकलांग बच्चों को आवश्यक सहायक उपकरण वितरण किये जायेगें, कृषि विभाग द्वारा चूहांे के नियंत्रण के लिए ग्राम स्तर पर जन जागरूकता गोष्ठी एवं रसायनों के प्रयोग की सावधानियों के बारे में कृषकों को जानकारी दी जायेगी।
उन्होने कहा कि सिंचाई विभाग द्वारा नहरों तथा तालाबों के किनारों पर उगी वनस्पतियों को हटाने के साथ ग्रामीण क्षेत्रों के निकट नहरों में जल क्षरण मरम्मत कराई जायेगी और उद्यान विभाग सार्वजनिक उद्यानों एवं विद्यालयों में मच्छर विकर्षी पौधों को रोपण किया जायेगा, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को संचारी रोगों तथा दिमागी बुखार हेतु प्रशिक्षण देकर संवेदीकरण कराया जायेगा और आंगनबाड़ी कार्यकत्री अपने क्षेत्र के कुपाषित तथा अति कुपोषित बच्चों की सूची बनाकर उनकों उचित पोषहार उपलब्ध करायेगी और आवश्यक होने पर अति कुपोषित बच्चों को पोषण पुर्नवास केन्द्र पर उपचार हेतु भर्ती कराया जायेगा और दस्तक अभियान के अन्तर्गत स्थानीय ए0एन0एम0 तथा आशा को आंगनबाड़ी द्वारा सहयोग किया जायेगा।
मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि समस्त सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों की प्रत्येक शनिवार सी0एम0ओ0 कार्यालय में आहूत बैठक में अभियान की साप्ताहिक समीक्षा की जायेगी और इसी तरह दस्तक अभियान के तहत आशाओं द्वारा अपने क्षेत्र के ग्रामवासियों को दिमागी बुखार से बचाव एवं घर एवं आसपास सफाई रखने के प्रति जागरूक किया जायेगा। कार्यशाला में जिला विकास अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी जे0एन0पाण्डेय, अधिशासी अधिकारी शारदा नहर अखिलेश गौतम तथा जिला सूचना अधिकारी संतोष कुमार सहित अन्य संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

Previous articleसंदिग्ध परिस्थितियों में लटकता मिला युवक का शव
Next articleपांच सदस्यीय टीम की निगरानी में तैयार होगा परीक्षा फल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here