मायावती ने समाजवादी पार्टी पर निशाना कसते हुए कहा कि दूसरी पार्टियों से निष्कासित स्वार्थी, और टिकट की लालच में इधर-उधर भटकने वालों को समाजवादी पार्टी पनाह दे रही है। ऐसे लोगों को पनाह देने से उनके खुद के जो नेता दिन रात मेहनत कर रहे हैं। उनको टिकट नहीं मिलेगी तो वह पार्टी छोड़ कर भाग जाएंगे। 

समाजवादी पार्टी पर मायावती ने कसा निशाना

इसी से समाजवादी पार्टी का किसी तरह का कोई जनाधार बढ़ने वाला नहीं है। ऐसा करके समाजवादी पार्टी सिर्फ खुद को तसल्ली दे सकती है और अंदर पार्टी के जो भगदड़ हो रही है उसको रोकने का प्रयास कर रही है। इसके अलावा मीडिया पर भी मायावती ने अफसोस जताते हुए कहा जिस तरह मीडिया समाजवादी पार्टी और भाजपा की खबरों को बढ़ा चढ़ाकर बताती है। 
उससे बीएसपी का महत्व कम नहीं होता बल्कि और भी ज्यादा बढ़ जाता है। मायावती ने कहा कि जब इनके ऐसे लोगों का इतना महत्व है तो फिर यकीनन बीएसपी नेताओं, उम्मीदवारों का  महत्त्व पार्टी के बल पर जमीन पर कितना अधिकतम होगा।  इस बात की कल्पना नहीं की जा सकती है।  इस बार बहुजन समाज पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार बनाएगी और इन लालची और धोखेबाज नेताओं को इस बात का सबक सिखाएगी की जनता अब सब कुछ जान चुकी है। 
उसके साथ धोखा करने और बहला-फुसलाकर एवं झूठ बोलकर वोट लेने वालों को जनता इस बार अच्छा सबक सिखाने वाली है। मायावती ने कहा की समाजवादी पार्टी का उत्तर प्रदेश में कोई अस्तित्व नहीं है। इसलिए समाजवादी पार्टी दूसरी पार्टियों से निकाले गए दागी नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल करके और जनता को यह बता रही है की उसकी पार्टी में उन नेताओं की भरमार है। जिनके दामन दाग से भरे हुए हैं। 
मायावती बहुजन समाज पार्टी की ऐसी नेता है जो एक स्वतंत्र रूप से शासन करती हैं।  और सभी समाज को एक साथ लेकर के चलती हैं। लेकिन अन्य पार्टियां आपस में जातिवाद और भेदभाव को फैलाती हैं। जिससे आपसी दंगे और तमाम तरह के फसाद जन्म लेते रहते हैं।
Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!