Home Latest News रोडवेज बसों से नशीली और नकली दवाओं की तस्करी करने वाले दो...

रोडवेज बसों से नशीली और नकली दवाओं की तस्करी करने वाले दो शातिरों को गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के कानपुर में रोडवेज बसों से नशीली और नकली दवाओं की तस्करी करने वाले दो शातिरों को गिरफ्तार कर लिया गया। इनके पास से भारी मात्रा में नशीली और नकली दवाएं बरामद हुई हैं। तस्करों के तार लखनऊ के नकली दवा सप्लाई करने वालों से जुड़े हैं जिसके चलते क्राइम ब्रांच और स्थानीय पुलिस वहां पर भी छापेमारी कर रही है।
एडीसीपी क्राइम दीपक भूकर के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच और गोविंदनगर पुलिस की संयुक्त टीम ने दबौली टेंपो स्टैंड पर दो को पकड़ा। इनमें चकेरी जगईपुरवा का पिंटू गुप्ता उर्फ गुड्डू और बेकनगंज का आसिफ मोहम्मद खां उर्फ मुन्ना शामिल हैं। इन दोनों के पास से पांच गत्तों में नाइट्रावेट-10 की 17770 टैबलेट व जिफी-200 की 48 हजार टैबलेट बरामद हुई हैं।
पकड़े गए शातिर पिंटू गुप्ता ने बताया कि वह लखनऊ से रोडवेज बस से दवाओं को आसिफ को भेजता था। इस दौरान वह बस की नंबर प्लेट की फोटो और कंडक्टर का नाम व नंबर एक पर्ची में लिखकर आसिफ को व्हाट्सएप करता था जिससे किसी तरह की परेशानी न हो। पुलिस से बचने के लिए शातिरों ने रोडवेज बस को आसान जरिया चुना जिससे किसी को शक भी न हो।
लखनऊ से जुड़े हैं दवा तस्करों के तार
एडीसपी क्राइम के मुताबिक नकली और नशीली दवा तस्करों के तार लखनऊ से जुड़े हुए हैं। पिंटू गुप्ता शहर के साथ ही गोंडा, बहराइच, गोरखपुर, बस्ती सहित पूर्वांचल के कई जिलों में दवा सप्लाई का काम करता है। पुलिस राजधानी में इनका नेटवर्क खंगालने में जुटी है।
प्रतिबंधित है प्रयोग
दीपक भूकर ने बताया कि पकड़ी गई जिफी दवा में साल्ट की जगह खड़िया मिली पाई गई है जबकि नाइट्रावेट-10 एक शेड्यूल-एच की दवा है और प्रतिबंधित है। इसे बिना डॉक्टर के पर्चे के नहीं दिया जा सकता है। इसका प्रयोग ज्यादातर लोग सस्ते और सूखे नशे के रूप में करते हैं। शहर के कुछ मेडिकल स्टोरों पर चोरी-छिपे इसे बेंचा जा रहा है जिन्हें चिह्नित किया जा रहा है।
नकली और नशीली दवाओं की सप्लाई के नेटवर्क का संजाल प्रदेश के कई जिलों में फैले होने की बात सामने आई। क्राइम ब्रांच के साथ लखनऊ पुलिस भी गैंग के सदस्यों की तलाश में जुटी है। जल्द ही सभी को गिरफ्तार करके नेटवर्क का खुलासा किया जाएगा।

Previous articleबच्ची के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या करने और उसके शरीर से अंग निकालने वाले दरिंदों के खिलाफ पुलिस ने रासुका के तहत की कार्रवाई
Next articleयूपी का यह जिला हुआ करोना मुक्त सीएम योगी ने की तारीफ, आइए जाने

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here