Home Latest News योगी सरकार भूल गयी गड्ढा मुक्त सड़क का वादा,कागजों में सिमटा आदेश

योगी सरकार भूल गयी गड्ढा मुक्त सड़क का वादा,कागजों में सिमटा आदेश

यूपी में 14 वर्ष के वनवास के बाद सत्ता में लौटी बीजेपी सरकार के चार साल पूरे हो चुके हैं।और चुनाव के दौरान किए गए अपने वादे भी भूल गयी है। सीएम बनते ही योगी आदित्यनाथ ने दो माह में सड़कों को गड्ढ़ामुक्त करने का दावा किया, आदेश भी हुआ लेकिन सब कागज में सिमट कर रह गया। अब तो हद ही हो गयी है शहर से लेकर गांव तक सड़के टूटी हुई है। दो तहसील मुख्यालय नानपारा और महसी को जोड़ने वाली खैरी घाट से इमामगंज बेल्हा बहरौली तटबंध पर बनी सड़क का हाल भी बद से बदतर हो गया है। टूटी सड़क में वाहन फंस रहे है।और हिचकोले खा रहे हैं।बाइक सवार गिरकर चोटिल भी हो रहे हैं। सब मिलाकर यातायात व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गयी है और सरकार और संबंधित विभाग के लोग मौन हैं।बता दें कि वर्ष 2017 के चुनाव में भय, भ्रष्टाचार, भूख, अपराध, सड़क, बिजली और यातायात बड़ा मुद्दा बना था। जनता ने 14 साल बाद बीजेपी पर भरोसा जताया और 325 सीटों के प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनायी। सत्ता में आते ही सीएम योगी ने सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त करने का निर्देश दिया लेकिन आदेश सिर्फ कागज पर ही नजर आया। कुछ जगह पैचिंग कर सिर्फ लाखों रूपये भुगतान कराया गया। सरकार डेढ़ साल में सड़कों की सूरत नहीं बदल सकी।

Previous articleसड़क दुर्घटना में घायल युवक की इलाज के दौरान‌ मौत
Next article20 लीटर अवैध कच्ची शराब के साथ एक आरोपित को खैरीघाट पुलिस ने किया गिरफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here