वरुण गांधी और मेनका गांधी भाजपा के सांसद हैं। इसके अलावा भाजपा में दोनों का काफी अच्छा कद भी है। कभी-कभी इंसान का बड़बोलापन भारी पड़ जाता है। ऐसा ही कुछ वरुण गांधी के साथ हुआ। अभी हाल ही में लखीमपुर खीरी मैं कुछ किसानों की कार से रौंदकर हत्या कर दी गई। जिस पर वरुण गांधी ने ट्वीट किया था और उसका खामियाजा उनके साथ उनकी मां को भी भुगतना पड़ा।
4 अक्टूबर को वरुण गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा था। लखीमपुर खीरी की घटना में शहीद हुए किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी से सख्त कार्यवाही करने का निवेदन करता हूं। इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भी लिखा था।
 5 अक्टूबर को वरुण गांधी ने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ियों से जानबूझकर कुचलने का यह वीडियो किसी की भी आत्मा को झकझोर देगा। पुलिस इस वीडियो का संज्ञान लेकर इन गाड़ियों के मालिकों इन में बैठे लोगों और इस प्रकरण में संलिप्त अन्य व्यक्तियों को तत्काल गिरफ्तार करें। 
आज 10 घंटे पहले वरुण गांधी ने एक अंग्रेजी में ट्वीट किया। जिसमें एक वीडियो भी देखने को मिल रहा है। वरुण गांधी ने लिखा है, वीडियो बिल्कुल साफ है। हत्या के जरिए प्रदर्शनकारियों को चुप नहीं कराया जा सकता। गिराए गए किसानों के निर्दोष खून के लिए जवाबदेही होनी चाहिए और अहंकार और क्रूरता  का संदेश हर किसान के दिमाग में आने से पहले न्याय दिया जाना चाहिए।

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटाए गए मेनका और वरुण गांधी

 इन ट्वीट्स को करने के लिए मेनका गांधी और वरुण गांधी को भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटा दिया गया। वरुण गांधी ने जो भी लिखा था सच लिखा था। जोकि वीडियो में साफ़ दिखाई पड़ता है। इस समय सच बोलने वाले को परिणाम भुगतने पड़ते हैं और जो चाटुकारिता करते हैं। उनको सिर पर रखा जाता है। हालांकि मेनका और वरुण गांधी के साथ भाजपा आगे क्या गुल खिलाती है यह तो समय ही बताएगा।

Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!