लखनऊ: उत्तर प्रदेश में मुस्लिम वोटर बहुत ही निर्णायक माना जाता है। मुस्लिम वोटर उत्तर प्रदेश में लगभग 19 से 20 परसेंट है। अगर जिस तरह मुस्लिम अपना वोट करता है उसी पार्टी की सरकार बनती है। इस बार मुस्लिम किस पार्टी को वोट करेंगे यह काफी सोचने की बात है। एक तरफ समाजवादी पार्टी मुस्लिमों को अपनी तरफ तेजी से आकर्षित करती दिखाई देती है लेकिन दूसरी तरफ हिंदुत्व का भी तेजी से समर्थन करते दिखाई देती है। 

उत्तर प्रदेश में मुस्लिम वोटर इस बार करेंगे इस पार्टी को पूरा समर्थन

इससे मुस्लिम वोटरों के अंदर असमंजस की स्थिति पैदा हो रही है। इसी तरह बहुजन समाज पार्टी भी एक तरफ ब्राह्मणों को अपनी तरफ आकर्षित करती दिखाई दे रही है। दूसरी तरफ मुस्लिमों को भी लुभाने की कोशिश कर रही हैं। इस स्थिति में भी मुस्लिम काफी असमंजस की स्थिति में दिखाई दे रहे हैं। हालांकि जमीनी हकीकत यह है कि अभी तक मुस्लिम वोटर ने अपना मत तय नहीं कर पाया है कि किसको वोट दिया जाएगा। 
यह तो सर्वविदित है कि मुस्लिम वोटर भारतीय जनता पार्टी को किसी भी स्थिति में वोट नहीं करेगा। इसके बाद ओवैसी और चंद्रशेखर आजाद की पार्टी पर भी मुस्लिमों को बिल्कुल भरोसा नहीं है। क्योंकि यह दोनों पार्टियां का इतना ज्यादा वर्चस्व उत्तर प्रदेश में नहीं है। इसलिए मुस्लिम वोटर भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए किसको समर्थन करता है यह सवाल अभी भी अनिश्चितता पर टिका हुआ है हालांकि यह तो पूर्ण रूप से निश्चित है कि मुस्लिम वोटर या तो समाजवादी पार्टी को समर्थन करेगा या फिर बहुजन समाज पार्टी को समर्थन कर सकता है। 
इसके अलावा मुस्लिम के पास अन्य कोई विकल्प दिखाई नहीं देते हैं। इन सभी बातों का सार लेते हुए या स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि मुस्लिम समाजवादी पार्टी या बहुजन समाज पार्टी को समर्थन करेगा। बहुजन समाज पार्टी के पास लगभग 19-22 परसेंट उसका बेस वोटर है। इसके बाद अगर मुस्लिम वोटर बहुजन समाज पार्टी को समर्थन करता है तो बहुजन समाज पार्टी की उत्तर प्रदेश में सरकार बनेगी। इसी तरह से समाजवादी पार्टी का भी अपना कुछ बेस वोटर है और इसके साथ अगर मुस्लिम वोटर अपना साथ देते हैं तो समाजवादी पार्टी की भी सरकार बन सकती है। 
लेकिन इस बार अन्य पिछड़ा वर्ग का वोटर काफी सोच समझकर वोट करेगा और किसको वोट करेगा यह भी अभी अनिश्चितता पर टिका हुआ है। हालांकि इस बार भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका लग सकता है। लेकिन अभी चुनाव में काफी समय होने के कारण कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। इस बार यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी भी मुस्लिमों को अपनी तरफ लुभाने के लिए कई प्रयास कर रहे हैं किंतु मुस्लिम वोटर भारतीय जनता पार्टी को सपोर्ट करता है या नहीं यह समय बताएगा।
0%
0%
  • User Ratings (0 Votes)
    0
Share.

Leave A Reply