महिलाओं को भारत में लक्ष्मी का रूप माना जाता है। यह बात अलग है की बहुत से ऐसे ग्रंथ भी हैं जिनमें महिला को पढ़ने तक के अधिकार से वंचित किया गया। लेकिन आज मैं जो बताने जा रहा हूं वह आपको काफी चौंका सकता है। महिलाएं ज्यादातर घरों में रहती हैं और गृह कार्य करती हैं। इसके अतिरिक्त आज के समय की पढ़ी-लिखी महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलती हूं। 
आज नहीं हजारों साल पहले से पुरुष अपनी महिला को अपने से कम आंकते आए हैं किंतु आज के समय में महिलाएं ऐसा वह कोई काम नहीं है जो पुरुष कर लेते हो और महिलाएं ना कर सकें।
लगभग हर विभाग में महिलाएं बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रही  हैं। जब उन्हें पढ़ने लिखने की आजादी मिली तो उन्होंने वह कर दिखाया जिसके लिए वह हजारों वर्षों से तड़प रहीं थीं। 
गुलामी की जंजीर टूटते ही आज महिलाएं चांद तक पहुंच चुकी हैं। मैं सिर्फ भारत की बात कर रहा हूं विदेश की महिलाएं तो और भी बहुत ही ज्यादा जागरूक हैं। हालांकि इन सब चीजों पर मैं आज चर्चा नहीं करने वाला हूं।
आज मैं बताता चाहता हूं एक ऐसा काम जो महिलाओं के साथ भूलकर भी नहीं करना चाहिए और ऐसा नहीं है जो पुरुष करते हैं उनके यहां भूलकर भी लक्ष्मी नहीं आती है।
क्योंकि मां लक्ष्मी महिलाओं की बेइज्जती या उनके साथ होने वाले अपराध से काफी दुखी होती हैं और जो व्यक्ति ऐसा अपराध करता है उसे दंड देती हैं जो पाई पाई के लिए तरस जाता है जिंदगी भर उसको दर-दर भटकना पड़ता है। 

यह काम महिलाओं के साथ नहीं करना चाहिए

महिला के साथ कभी भी मारपीट और उनका अपमान नहीं करना चाहिए। अक्सर लोग महिला को अपने पैर की जूती के समान जैसा समझते हैं किंतु ऐसे लोगों की आगे चलकर काफी दुर्दशा होती है इसलिए जिस सम्मान के खुद हकदार हैं इतना सम्मान अपने परिवार में महिलाओं को भी देना चाहिए। जो पुरुष महिलाओं का अपमान करते हैं। उनके साथ दुराचार करते हैं। उन्हें पीटते हैं या बात-बात पर बेइज्जत करते हैं। 
उनसे महालक्ष्मी सदैव के लिए रूठ जाती हैं और वह व्यक्ति दर-दर  के लिए भटकता रहता है। इस तरह के लोगों के लिए मां लक्ष्मी का दरवाजा सदैव के लिए बंद रहता है। इसीलिए स्त्री को लक्ष्मी का रूप कहा गया है। अपने घर में महिलाओं का सम्मान करें। आराम का भी मौका दें साथ ही उनसे ऐसा कुछ ना कहें जिससे उनको कष्ट पहुंचे। 
अगर जो पुरुष ऐसा कार्य करते हैं उनके ऊपर मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है और वह सदैव धनवान बने रहते हैं किंतु जो लोग मारपीट इत्यादि अपनी घर की महिला के साथ करते हैं। उनसे मां लक्ष्मी का रूठना लगभग तय होता है।
इसीलिए ऐसे लोग जिंदगी भर इधर-उधर तड़पते रहते हैं किंतु दुनिया में उनका कोई सहारा नहीं बन पाता है। इसलिए आज से ही प्रण करें कि हम महिलाओं की सदैव सम्मान करेंगे और उनको आदर के साथ इज्जत देंगे और मिलकर के साथ रहेंगे।
Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!