Home Latest News मसूरी में महिला के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या कर फरार हुए...

मसूरी में महिला के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या कर फरार हुए 10 हजार के इनामी आरोपी को बिहार से गिरफ्तार कर लिया

मसूरी में महिला के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या कर फरार हुए 10 हजार के इनामी आरोपी को बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी ठगा मंडल ने 2017 में अपने साथियों के साथ मसूरी में महिला से गैंग रेप कर उसकी हत्या कर दी थी. इस वारदात के बाद से वह फरार था. इस जघन्य अपराध के 9 आरोपियों में से 7 को देहरादून पुलिस अब तक गिरफ्तार कर चुकी है. 4 साल पहले हुई इस वारदात के 10 हजार रुपये के इनामी आरोपी ठगा मंडल को बिहार के सीतामढ़ी जिले के थाना सहीयारा से गिरफ्तार किया गया है. उसे बिहार के न्यायालय में पेश कर ट्रांजिट रिमांड पर देहरादून लाया गया.
यह मामला 2017 का है. पुलिस को एक महिला का शव जंगल में मिला था. इस महिला की गुमशुदगी पहले से दर्ज थी. महिला के पिता की तहरीर पर थाना मसूरी में मुकदमा दर्ज किया गया था. महिला की लाश के पास से एक मोबाइल फोन और आइडिया का सिम कंपनी मिला था. जांच में पता चला कि मोबाइल तो मृतका का है और सिम कार्ड विहार के पते पर है. जांच के दौरान यह भी प्रकाश में आया कि मृतका की जान-पहचान अपने गांव के एक युवक से थी. जब इस युवक से पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि मौत से कुछ समय पहले यह महिला विजय नाम के युवक से मिलने देहरादून आई थी, उसके बाद वह मसूरी भट्टा गांव पहुंची थी. भट्टा गांव पहुंचने पर महिला ने गांव के व्यक्तियों से और कुछ बिहारी व्यक्तियों के फोन पर इस युवक की बातचीत अपने पति के रूप में करवाई थी. पूछताछ के बाद पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था. इस मामले में लिप्त 3 आरोपी फरार थे.
बिहार से गिरफ्तार किए गए ठगा मंडल ने बताया गया कि सभी अभियुक्त मजदूरी कर रहे थे तभी दोपहर के समय विजय का फोन मांगने महिला आई. वह अपने पति से बात करने के लिए फोन मांगने आई थी. ठगा मंडल ने बताया कि तब महिला काम तलाश रही थी. तब महिला की मजबूरी व लाचारी का फायदा उठाकर हम सभी साथियों ने उक्त महिला को घेर कर उसके साथ बलात्कार किया और पता लग जाने के डर से महिला की हत्या गला घोंटकर कर दी. महिला की पहचान न हो पाए इसलिए उसके चेहरे पर तेजाब डालकर उसे बुरी तरह खराब कर दिया और हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए उसे दूर जंगल में ले जाकर चुन्नी से गले में फंदा डाल कर शव को पेड़ से लटका दिया था. उसके बाद मैं डर गया. मैंने अपना फोन भी फेंक दिया था और वहां से बिहार भाग गया था. उसके बाद मैं नेपाल चला गया. मैं कभी-कभी अपने घर आता था. अभी कुछ दिन पहले ही मैं अपनी ससुराल माधोपुर में आया था कि पुलिस ने पकड़ लिया |

Previous articleबसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में बसपा किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी
Next articleपूर्व सीएम कमलनाथ ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर जमकर निशाना साधा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here