Home Latest News बिहार के मधुबनी में 16 वर्षीय नाबालिग लड़की को अगवा कर उसके...

बिहार के मधुबनी में 16 वर्षीय नाबालिग लड़की को अगवा कर उसके साथ गैंगरेप

बिहार के मधुबनी में 16 वर्षीय नाबालिग लड़की को अगवा कर उसके साथ गैंगरेप करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. पीड़िता के आवेदन पर गांव के ही 4 युवकों के खिलाफ नामजद केस दर्ज कर पुलिस पूरे मामले की तफ्तीश में जुटी है. पीड़िता रात भर घर से लापता थी और सुबह घर के पास बेहोशी की हालत में मिली. होश में आने पर परिजनों को जब उसने अपने साथ हुई हैवानिय की कहानी सुनाई तो पूरे परिवार के पैर तले जमीन खिसक गई. पीड़िता की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है.
गैंगरेप के चारों आरोपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है. गैंगरेप का यह मामला मधुबनी जिले के झंझारपुर थाना क्षेत्र का है. पीड़ित परिवार के मुताबिक 13 अगस्त की रात उनकी 16 वर्षीय बेटी अपने घर के पास ही चापाकल पर थाली धोने गई थी. इसी दौरान घात लगाकर बैठे चार युवकों ने उसे जबरन अगवा कर लिया और नशीली दवा का इंजेक्शन लगाकर उसे बेहोश कर दिया. परिजनों का कहना है कि रात भर उनकी बेटी गायब रही और अगले दिन सुबह घर के पास ही बेहोशी की हालत में मिली. इसके बाद उसे झंझारपुर अनुमंडल अस्पताल लाया गया.
बताया जा रहा है कि होश में आने के बाद पीड़िता ने पूरी आपबीती परिजनों को सुनाई. फिलहाल पीड़ित परिवार की शिकायत पर झंझारपुर थाने में 4 युवकों पर नाबालिग को अगवा करने और उसके साथ गैंगरेप के आरोप में नामजद केस दर्ज किया गया है. इस मामले में अभी पुलिस मेडिकल रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है. झंझारपुर के एसडीपीओ आशीष आनंद का कहना है कि पीड़िता को इंसाफ जरूर मिलेगा. पुलिस हर पहलू की बारीकी से जांच कर रही है. फिलहाल पीड़िता की शिकायत पर नामजद आरोपियों के खिलाफ 376 डी, 366 और पोक्सो अधिनियम सहित कई अन्य धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.
झंझारपुर थाना प्रभारी सह ट्रेनी डीएसपी नेहा कुमारी ने बताया कि पीड़िता के पिता ने 16 अगस्त को थाने में आवेदन दिया था, जिसके आधार पर 25 वर्षीय सुनील भंडारी, 25 वर्षीय सुशील भंडारी, 26 वर्षीय प्रदीप कुमार कामत और 21 वर्षीय सुरेंद्र कुमार भंडारी के खिलाफ नामजद केस दर्ज कर पुलिस पूरे मामले की तफ्तीश में जुटी है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश भी जारी है. पुलिस के मुताबिक आरोपी सुशील भंडारी पीड़िता के भाई का दोस्त बताया जा रहा है. यह भी जानकारी मिली है कि बीते अप्रैल महीने में भी सुशील भंडारी पीड़ित लड़की को अपने साथ कहीं ले गया था और किसी होटल में छोड़कर फरार हो गया था. इसके बाद गांव में पंचायत भी बुलाई गई थी.

Previous articleमुजफ्फरपुर जिले के पारू के बीजेपी विधायक अशोक कुमार सिंह को जान से मारने की धमकी दी गई
Next articleबिहार के बाढ़ राहत शिविरों में रह रहीं गर्भवती महिलाओं को बेटा होने पर 10 हजार रुपये और बेटी होने पर 15 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here