Home Latest News नव नियुक्त राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कोरोना वायरस संक्रमण की...

नव नियुक्त राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कोरोना वायरस संक्रमण की संभावित तीसरी लहर से बचाव लिये कड़ी रणनीति अपनायी जा रही

झारखंड के नव नियुक्त राज्यपाल रमेश बैस ने रविवार को कहा कि पूरे देश के साथ झारखंड में भी कोरोना वायरस संक्रमण की संभावित तीसरी लहर से बचाव लिये कड़ी रणनीति अपनायी जा रही है. और इसमें समस्त नागरिकों के सहयोग की आवश्यकता है. देश के 75 वें स्वतंत्रता दिवस पर झारखण्ड के राज्यपाल रमेश बैस ने दुमका पुलिस लाईन में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद अपने संबोधन में कहा कि कोविड-19 को रोकने तथा तीसरी लहर से बचाव एवं रोकथाम के लिए लागातार निगरानी एवं सघन जांच की जा रही है. इसके लिये पूरे देश के साथ झारखंड में भी जांच, पहचान, पृथक करना, उपचार तथा टीकाकरण की रणनीति अपनाई गयी है.
उन्होंने कहा कि कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर में कम आयु वर्ग के लोगों के संक्रमित होने की आशंका को ध्यान में रखकर समुचित तैयारी की जा रही है. इस अवसर पर राज्यपाल ने आगाह किया कि राज्य में महामारी का खतरा अभी टला नहीं है और थोड़ी सी लापरवाही भी हमें मुश्किल में डाल सकती है. उन्होंने राज्यवासियों से अपील की कि वह सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करें. राज्यपाल ने कहा कि महामारी की चुनौतियों के बीच विकास बाधित न हो, इसके लिये सरकार प्रयासरत है. झारखण्ड की अर्थव्यवस्था में औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा देने तथा निवेश को आकर्षित करने एवं स्थापित औद्योगिक इकाइयों को प्रोत्साहित करने के लिए झारखण्ड औद्योगिक एवं प्रोत्साहन नीति – 2021 को लागू किया गया है.
उनका अनुसरण करने की भी अपील की
राज्यपाल ने कहा कि आर्थिक, सामाजिक, औद्योगिक विकास एवं पर्यटन के लिए उन्नत यातायात व्यवस्था का होना जरूरी है. राज्य की आधारभूत संरचना को सुदृढ़ करने के लिये 2000 किलोमीटर सड़क का उन्नयन किया जा रहा है और इसमें जिलों के महत्वपूर्ण मार्गों को शामिल किया गया है. स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राज्यपाल ने लोगों को अपने देश के क्रांतिकारियों, नेताओं एवं आदिवासी योद्धाओं को स्मरण कर उनका अनुसरण करने की भी अपील की.

Previous articleहरियाणा के लोगों को सोमवार को उमस भरी गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है. मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में मौसम करवट लेगा और कई जिलों में बारिश होने की संभावना
Next articleप्रदेश की जेलों में करीब 17 महीने से अपनों से मुलाकात का इंतजार कर रहे एक लाख से ज्यादा बंदियों के लिए राहतभरी खबर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here