Home Latest News टाटीझरिया के खैरा में पेड़ पर चढ़ने से आता है मोबाइल नेटवर्क

टाटीझरिया के खैरा में पेड़ पर चढ़ने से आता है मोबाइल नेटवर्क

टाटीझरिया। टाटीझरिया प्रखंड के सुदूर क्षेत्र खैरा पंचायत के करमा, नावाडीह, महुअरी, सिझुवा, कारीचट्टान, महुआटांड, धोकडकोचा, अमरवा इलाकों में स्टुडेंट्स को जान जोखिम में डालकर ऑनलाइन पढ़ाई करनी पड़ रही है। इस क्षेत्र में मोबाइल नेटवर्क की बड़ी समस्या है। सिग्नल पाने के लिए किसी छात्र या युवक को पेड़ पर चढ़ना पड़ता है। सब कुछ कैसे होता है, यह जानकर आप भी दांत तले अंगुली दबाने के लिए मजबूर हो जाएंगे। दरअसल, यहां मोबाइल के जरिये ऑनलाइन स्टडी करने वाले स्टूडेंट्स एक विशेष क्षेत्र में इकट्ठे होते हैं। जमीन पर नेटवर्क की समस्या रहती है। इस कारण किसी युवक या छात्र को पहले एक ऊंचे पेड़ की टहनी पर चढ़ना पड़ता है। वहां पहुंचकर वह मोबाइल नेटवर्क के लिए एक हाथ में पकड़ा मोबाइल ऊपर उठाता है और दूसरे से पेड़ को पकड़ कर रखता है। इतना जोखिम उठाने के बाद नेटवर्क आता है वह भी कम रेंज में। नेटवर्क समस्या के कारण ग्रामीणों का संपर्क अपने रिश्तेदारों व परिवार वालों से टूट जाता है। कई बार ऐसा होता है कि आवश्यक सूचना उनतक देर से पहुंचती है।
ग्रामीण बोले- लंबे समय से है नेटवर्क की समस्या
ग्रामीण राजकुमार सिंह, विजय पांडेय, प्रेमप्रकाश, परमेश्वर रजक, राजकुमार राम, राजेश प्रसाद, दीपक पांडेय, राजेश रंजन, सुभाष राम, शंकर प्रसाद, राहुल कुमार, संजय कुमार, अनिल राम, शारदा देवी, रीना देवी, देवंती देवी, सुदामा देवी आदि लोगों का कहना है कि यह सिलसिला लंबे समय से चल रहा है। वर्षों बाद भी मोबाइल नेटवर्क यहां नहीं पहुंचा है। जहां आज के युग में बिना एंड्रॉयड मोबाईल के लोग नहीं रह पाते, घंटे-घंटे मोबाईल पर आये मैसेजेस देखते रहते हैं। ऐसे में खैरा पंचायत के आधे दर्जन गांवों में नेटवर्क समस्या एक बडी कारण बनी हुई है, लोग इस समस्या से झूझ रहे हैं। ग्रामीणों ने मोबाईल टॉवर लगाने की बात रखी है।

Previous articleसार्वजनिक स्थानों पर थूकने और बिना मास्क लगाए 182 पर पुलिस ने लगाया जुर्माना
Next articleअक्षय पात्रा फाउंडेशन द्वारा हजारों जरूरतमंद लोगों को मुफ्त राशन किट मुहैया, आइए जाने

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here