Home Latest News कोरोना की दूसरी लहर शुरू होते ही सरकार ने लॉकडाउन लगाकर राज्य...

कोरोना की दूसरी लहर शुरू होते ही सरकार ने लॉकडाउन लगाकर राज्य में कई तरह की पाबंदियां लगा दी

कोरोना की दूसरी लहर शुरू होते ही सरकार ने लॉकडाउन लगाकर राज्य में कई तरह की पाबंदियां लगा दी थी. लेकिन जैसे-जैसे कोरोना संक्रमण की रफ़्तार कम होती गई सरकार ने लोगों को छूट भी देना शुरू कर दिया. सरकार ने अनलॉक की प्रक्रिया शुरू करते हुए बाजार, ट्रांसपोर्ट, पार्क, शादी विवाह जैसी पब्लिक गेदरिंग वाली गतिविधियों में छूट दी, लेकिन धार्मिक स्थलों में आज भी ताले लटक रहे हैं. अब बीजेपी के तरफ से मंदिरों को खोलने की मांग उठने लगी है. यहां तक की बीजेपी के नेता ने इसे लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र भी लिखा है.
बीजेपी सांसद विवेक ठाकुर ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर कहा है कि कोरोना के मामले काफी घट गए हैं. क्योंकि श्रावण मास नजदीक है, ऐसे में अब आम लोगों की मांग है कि मंदिरों पर लगा प्रतिबंध भी हटे. लोगों को कोविड नियमों के पालन के साथ मंदिरों में दर्शन की इजाजत दी जाय. वहीं बीजेपी प्रवक्ता मनोज शर्मा ने भी सरकार से मांग करते हुए कहा है कि ये लोगों के आस्था का सवाल है. कोविड नियमों के पालन के साथ मंदिरों को खोल देना चाहिए. बिहार के लोग जागरुक हैं. स्वविवेक पर उन्हें मंदिरों में दर्शन की इजाजत मिले.
इस मुद्दे पर बयानबाज़ी तेज
बीजेपी का कहना है कि जल्द सावन का महीना शुरू होने वाला है. तो ऐसे में लोगों की आस्था को देखते हुए कोविड नियमों के साथ मंदिरों के दरवाजे खोल देने चाहिए. लेकिन उन्हीं के सहयोगी जेडीयू को ऐसा नहीं लगता और उनके नेता बीजेपी की इस मांग पर कोरोना के तीसरे लहर की आशंकाओं का हवाला दे रहे है. जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा है की सभी बड़े मंदिर कोविड के कारण बंद है और मंदिर खुले या नहीं मंत्रीपरिषद उसपर सामूहिक निर्णय लेगा.
सीएम नीतीश कुमार का बड़ा बयान
जनसंख्या नियंत्रण कानून पर सीएम नीतीश कुमार के दिए बयान पर सियासत गर्म होती जा रही है. पहले उपेंद्र कुशवाहा ने यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ के जनसंख्या कानून के मसौदे का समर्थन कर दिया तो भाजपा नेता व बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी ने भी सीएम नीतीश की बातों का विरोध कर दिया. इसके बाद सीएम नीतीश के समर्थन में कांग्रेस खड़ी हो गई तो अब भाजपा नेता ने बिहार में भी जनसंख्या कानून लागू करने की मांग कर दी है. बिहार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने जनसंख्या कानून का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि हर हाल में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनना चाहिए. इसको लेकर कहीं कोई भी भ्रम नहीं है.

Previous articleबिहार से दिल दहलाने वाली खबर पिता और उसके दो बेटों की निर्ममता से हत्या कर दी गई
Next articleराजस्थान केटोंक जिले में एक व्यक्ति अपनी मांगों को लेकर मोबाइल टावर पर चढ़ गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here