Home Latest News कोरोना की तीसरी संभावित लहर के मद्देनजर कोरोना नियम तोड़ने वालों के...

कोरोना की तीसरी संभावित लहर के मद्देनजर कोरोना नियम तोड़ने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त रवैया अपना रही

कोरोना की तीसरी संभावित लहर के मद्देनजर कोरोना नियम तोड़ने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त रवैया अपना रही है। दिल्ली में कोविड-19 महामारी की स्थिति में सुधार के मद्देनजर मॉल, बाजार और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठानों के खुलने के साथ ही जिला प्रशासन ने अधिक संख्या में एनफोर्समेंट टीमों को तैनात किया है तथा कोविड-19 नियमों के उल्लंघन को लेकर ज्यादा चालान जारी किए जा रहे हैं।
कोविड प्रोटोकॉल के संबंध में दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के आदेशों का उल्लंघन करने पर हर दिन करीब 6,000-7,000 चालान जारी किए जा रहे हैं। इनमें मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना और सार्वजनिक स्थलों पर नहीं थूकने जैसे कई अन्य नियम के उल्लंघन शामिल हैं। अधिकारियों ने बताया कि राजधानी में 11 जिलों में 150 लॉ एनफोर्समेंट टीमों ने 29 और 30 जून को क्रमश: 6,775 और 6,643 चालान जारी किए।
नियम तोड़ने पर एक महीने में सात करोड़ के चालान काटे
दिल्ली के अनलॉक होने के बाद 31 मई से 29 जून के बीच एक महीने में करीब 7 करोड़ 25 लाख रुपये के चालान किए गए हैं। इस दौरान करीब 37000 लोगों को चालान जारी भी किए गए हैं।
कोविड नियमों की अनदेखी करने वालों के खिलाफ दिल्ली पुलिस की तरफ से की गई कार्रवाई के तहत अब तक करीब 3000 से ज्यादा लोगों के खिलाफ मामले भी दर्ज किए गए हैं, जबकि 2900 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस की तरफ से जारी आंकड़े में मास्क नियम का उल्लंघन करने वाले और सोशल डिस्टेंसिंग नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।
इस अभियान के तहत जो लोग चालान की जद में आने के बाद भी जुर्माना जमा नहीं कर रहे हैं, उनके खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है। इसमें मास्क नहीं पहनने और सार्वजनिक स्थल पर थूकने पर जुर्माना लगाने का प्रावधान है। पहले पुलिस मामला भी दर्ज करती थी, लेकिन वर्तमान में चालान काटे जाते हैं।

Previous articleउत्तर प्रदेश में कोरोना के कारण बंद चल रहे सिनेमाघर व जिम कल से खुलेंगे, जानिए गाइडलाइंस के बारे में
Next articleकोरोना काल में निवेश प्रस्ताव हासिल करने में बिहार देश में सबसे आगे रहा, आइए जाने

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here