Home Latest News कोचिंग सिटी कोटा में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से एक बार...

कोचिंग सिटी कोटा में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से एक बार फिर से बाढ़ जैसे हालात बन गए

कोचिंग सिटी कोटा में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से एक बार फिर से बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. शहर के कई इलाकों में जलभराव हो गया है और कई कॉलोनियां पानी से घिर गई हैं. इससे लोग घरों में कैद हो गए हैं. जिला प्रशासन की ओर से जलभराव वाले क्षेत्रों में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है. लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है. कोटा के बोरखेड़ा देवली अरब रोड के नजदीक बालाजी नगर और कौटिल्य नगर में जलभराव की सूचना पर नगर निगम की टीम 2 नावों को लेकर पहुंची और करीब 20 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया.
नगर निगम के गोताखोर विष्णु श्रृंगी ने बताया कि मंगलवार शाम के वक्त जिला प्रशासन से सूचना मिली थी कि कई इलाकों में जलभराव के चलते लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना है. इसके बाद नगर निगम की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और नावों की मदद से कुछ परिवारों को मकानों से बाहर निकालकर सुरक्षित स्थानों पर लाया गया है. कुछ लोग चोरी के डर से अपना घर छोड़ने को तैयार नहीं हैं. देर रात तक टीम का बोरखेड़ा इलाके में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रहा.
इटावा, सुल्तानपुर और खातोली क्षेत्र में भी बिगड़े हालात
इटावा, सुल्तानपुर और खातोली क्षेत्र में भी भारी बारिश से जलभराव से परेशानी खड़ी हो गई है. वहां लगातार 4 दिनों से हो रही बारिश के कारण पार्वती और चंबल सहित छोटी नदियों में उफान आ गया है. इससे करीब दो दर्जन से ज्यादा गांव पानी से घिर गए हैं. वहां भी एसडीआरएफ की कोटा टीम के साथ एक दल अजमेर से रेस्क्यू के लिए बुलाया गया है. टीमें स्थानीय पुलिसकर्मियों के साथ लगातार गांवों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा रही हैं. देर रात तक एसडीआरएफ और पुलिस के जवानों ने 27 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया. ये सभी लोग पार्वती नदी के किनारे मकानों में फंसे हुए थे.
कोटा बैराज के चार गेट खोलकर 25000 क्यूसेक पानी की निकासी
मध्य प्रदेश के साथ-साथ राजस्थान में लगातार हो रही बारिश के चलते चंबल नदी पर बने बांधों का जलस्तर भी बढ़ता ही जा रहा है. देर रात कोटा बैराज के चार गेट खोलकर 25000 क्यूसेक पानी की निकासी शुरू की गई. ऐसे में अब चंबल नदी के डाउन स्ट्रीम में भी बाढ़ आने की संभावनाएं बन रही है. चंबल नदी के किनारे बसी निचली बस्तियों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है.
देर रात तक जारी रहा बारिश का दौर
मौसम विभाग के अनुसार, कोटा में मंगलवार शाम 5.30 बजे तक 94.7 एमएम बारिश दर्ज की गई. इसके बाद भी लगातार कोटा शहर में मूसलाधार बारिश का दौर जारी रहा. मौसम वैज्ञानिक वीके जैन के अनुसार कोटा में सीजन में मौसम बारिश 716.6 एमएम बारिश होती है. इस साल अब तक 490.7 एमएम बारिश हो चुकी है.

Previous articleदिनदहाड़े बाइक सवार 3 बदमाशों ने पिस्टल के बल पर निजी कंपनी के एजेंट से 10 लाख रुपये लूट लिये
Next articleहरियाणा के हिसार जिले के हांसी उपायुक्त कार्यालय में 29 साल पहले हुए फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here