लखीमपुर खीरी किसान हत्या कांड में अब तक 8 किसानों की जान जा चुकी है। इस मामले में दोषी कौन है। इस पर टीमें जांच कर रही हैं किंतु पीड़ित परिवारों से नेताओं या समाज सेवकों को ना मिलने देना यह भी बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बात है। 
मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि किसानों की हत्या कर दी गई और अब उनके परिवार से संवेदना व्यक्त करने जा रहे हैं सांसद संजय सिंह को रातभर पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी सड़क पर रोक कर खड़े हैं। उन्होंने यह भी कहा किसानों के परिवार के आंसू भारी पड़ेंगे योगी जी।
 वही अजीत त्यागी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि आदित्यनाथ जी की सरकार में किसानों की मौत पर शोक संवेदना व्यक्त करना भी अपराध है। सांसद संजय सिंह जी लखीमपुर के रास्ते पर हैं और रात 2:30 बजे से उन्हें सीतापुर के विस्वा में भारी पुलिस बल लगा कर रोक लिया गया।

किसानों के परिवार से संवेदना व्यक्त करने जा रहे अखिलेश यादव गिरफ्तार

 वहीं दूसरी तरफ लखीमपुर खीरी जा रहा है राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी को योगी सरकार की पुलिस ने भारी संख्या में पुलिस बल ने गिरफ्तार किया है। जिन्हें आप तस्वीरों में देख सकते हैं। इतना ही नहीं यहां पर पुलिस और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ झड़प भी हुई। जिसकी तस्वीरें आप सब देख सकते हैं। 
प्रदेश सरकार नेताओं को किसानों से मिलने क्यों नहीं दे रही है इसका कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। हालांकि किसानों से मिलना किसी प्रकार का कोई दोष नहीं है और वो लोग जिनकी हत्या कर दी गई उनके परिवार से मिलना लगभग सभी का कर्तव्य बनता है। 

ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इन नेताओं को रोका जाना कितना उचित है। हालांकि अखिलेश यादव को उनके समर्थकों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। वही संजय सिंह को अभी तक घटनास्थल तक पहुंचने नहीं दिया गया है। संजय सिंह कार में स्पष्ट रूप से बात करते नजर आ रहे हैं की यह  अपराध जिसने भी किया है उसको सजा मिलनी चाहिए किंतु जिन लोगों की मौत हुई है। उनके परिवार से मिलने से मुझे क्यों रोका जा रहा है।

Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!